जम्मू में बड़ी आतंकी साजिश को सेना ने किया नाकाम, बस से 18 किलो विस्फोटक बरामद

जम्मू कश्मीर में आतंकवादी अपने मंसूबों को पूरा करने के कोशिश में लगे हुए है, लेकिन एक बार फिर सेना ने आतंकवादियों के मंसूबों को पूरा नहीं होने दिया। खुफिया एजेंसियों की चौकसी के कारण बड़ी साजिश को नाकाम करते हुए सेना ने जम्मू बस स्टैंड के नजदीक एक बस से 18 किलो विस्फोटक सामग्री बरामद की गयी है। विस्फोटक सामग्री से लदी यह बस  बिलावर से जम्मू पहुंची थी। वहीं सेना ने विस्फोटक के साथ दो लोगों को भी हिरासत में ले लिए है। जो कि बस के ड्राइवर व कंडक्टर बताए जा रहे हैं। विस्फोट सामग्री के साथ मंसूबो का नक्शा भी बरामद कर लिया गया है, जिसमें बस स्टैंड, एयरपोर्ट और बड़ी ब्राह्मणा सैन्य शिविर के बारे में जानकारी दी गई थी। 

इसे भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारुक अब्दुल्ला को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, हिरासत के खिलाफ याचिका हुई खारिज

मीडिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बिलावर से बस में लाई गइ यह विस्फोटक सामग्री जम्मू में आतंकवादियों तक पहुंचाई जानी थी। खुफिया एजेंसियों को इसकी भनक लग गई। बस जैसे ही जम्मू केसी थिएटर के नजदीक पहुंची, सेना ने उसे घेर लिया। तलाशी लेने पर उसमें से 18 किलो विस्फोटक सामग्री बरामद हुइ। सूत्रों ने बताया कि यह विस्फोटक सामग्री पैकेट में बंद थी। वहीं, पूछताछ के दौरान ड्राइवर ने बताया कि, यह पैकेट उन्हें बिलावर से चलते हुए एक महिला ने दिया था।’ उन्हें कहा गया था कि, जम्मू बस स्टैंड पहुंचने पर एक व्यक्ति उनसे यह पैकेट ले लेगा, इसके लिए उन्हें 200 रूपये भी दिए गए थे।”

जानकारी देते हुए बता दें कि, उस व्यक्ति के ड्राइवर व कंडक्टर तक पहुंचने से पहले ही सेना ने विस्फोटक सामग्री को अपने कब्जे में ले लिया। इसलिए कहा जा सकता है कि, यह कार्रवाई होते देख वह व्यक्ति मौके से फरार हो गया हो। वहीं सेना द्वारा विस्फोटक सामग्री के साथ पकड़े गए ड्राइवर व कंडक्टर को पुलिस की एसओजी टीम के हवाले कर दिया गया है | पुलिस के पूछताछ पर उनकी पहचान विक्रम और विजय के रूप में हुई है। अभी लगातार उनसे पूछताछ जारी है| वहीं, बताया जा रहा है कि, ड्राइवर व कंडक्टर की सूचना के आधार पर बिलावर में संदिग्ध महिला की भी तलाश की जा रही है।”

इसे भी पढ़े: अनुच्छेद 370 हटने के बाद पहली बार जम्मू-कश्मीर में होंगे BDC चुनाव, जानिए कब होंगे चुनाव