आज नहीं होगी अयोध्या मामले की सुनवाई, जस्टिस बोबडे की तबियत खराब

अयोध्या मामले में 7 दिनों से लगातार सुनवाई चल रही हैं, लेकिन आज 19 अगस्त को 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ के एक जस्टिस एस. ए. बोबडे की तबीयत खराब होने की वजह से आज की सुनवाई को टाल दिया गया हैं। जस्टिस एस. ए. बोबडे आज कोर्ट नहीं आ पाए हैं |  इस मामले में आज 8वें दिन की सुनवाई होनी थी| वहीं सात दिनों तक हुई सुनवाई में रामलला विराजमान ने अपना पक्ष पेश कर दिया है। 

इसे भी पढ़े: Ayodhya Case: अदालत ने अयोध्या मामले की सुनवाई तीन दिन के बजाय पांच दिन करने का लिया निर्णय

जानकारी देते हुए बता दें कि, अयोध्या मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ जस्टिस एस. ए. बोबडे, जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. ए. नजीर कर रहें हैं। इस मामले का पूरा विवाद 2.77 एकड़ की जमीन को लेकर है।  

कोर्ट में शुक्रवार 7वें दिन की  हुई सुनवाई में रामलला विराजमान के वकील सी. एस. वैद्यनाथन ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि, सिर्फ नमाज अदा करने से वह संपत्ति मुस्लिम पक्ष की नहीं हो जाती। इसी के साथ उन्होंने सड़क का उदाहरण देते हुए कहा कि, नमाज सड़कों पर भी होती है, इसका मतलब यह नहीं कि सड़क आपकी हो गई। इस पर सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील राजीव धवन ने आपत्ति जताई थी, उन्होंने कहा कि यह इस्लाम की सही व्याख्या नहीं है।”

इसके बाद वैद्यनाथन ने कहा कि, ASI की रिपोर्ट से साफ है कि, मस्जिद किसी खाली पड़ी ज़मीन या एग्रीकल्चर ज़मीन पर नही बनी, मस्जिद एक बहुत बड़े ढांचे के ऊपर बनी। फिर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि, साबित करें कि वह बड़ा ढांचा मंदिर का धार्मिक इमारत ही है।”

इसे भी पढ़े: सुप्रीम कोर्ट का आया अयोध्या मामले पर बड़ा फैसला – देखिये क्या कहा