मिशन चंद्रयान 2 अब 22 जुलाई को दोपहर 2.52 बजे किया जा सकता लांच

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन अर्थात इसरो में चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण की एक बार फिर हलचल तेज़ हो गई है, क्योंकि इसरो चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण जल्द से जल्द करना चाहता है| मीडिया से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 22 जुलाई को दोपहर 2.52 बजे चंद्रयान-2 लॉन्च किया जा सकता है। ऐसे में चंद्रयान-2 की यात्रा 4 दिन आगे बढ़ जाएगी। पहले चंद्रयान-2 चांद पर 6 सितंबर को पहुंचने वाला था, लेकिन 22 जुलाई को लॉन्चिंग होने पर ये 10 या 11 सितंबर को चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचेगा। हालांकि, जुलाई के अंत तक लॉन्चिंग की पूरी संभावना है|

ये भी पढ़े: भारत का दूसरा मिशन ‘चंद्रयान 2’ : यह पूरी तरह स्वदेशी है अभियान – जानिये पूरी बातें

चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण का समय 22 जुलाई की सुबह ठीक उसी समय रखा जा सकता है, जो 15 जुलाई का था| अब माना जा रहा है, कि प्रक्षेपण के लिए 21 जुलाई की दोपहर का कोई समय भी रखा जा सकता है| हालांकि, इसरो की ओर से अब तक प्रक्षेपण के नए समय को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है| ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है, कि इसरो जल्द ही इस बारे में घोषणा करेगा|

हर लॉन्च में एक समय सीमा होती है, जिसके अंदर वे नतीजे मिलने की संभावना होती है, जिनके लिए लॉन्च किया जा रहा है। 15 जुलाई को यह समय सबसे अधिक 10 मिनट का था, लेकिन इसरो के पास बाकी महीने में हर दिन सिर्फ एक मिनट का समय है। वैज्ञानिकों के मुताबिक 31 जुलाई तक न लॉन्च कर पाने की स्थिति में चंद्रयान के लिए ज्यादा ईंधन की आवश्यकता होगी। 

संभावित लॉन्च को देखते हुए 18 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक दोपहर 2 बजे से लेकर 3:30 बजे तक के लिए अलर्ट जारी किया गया है।

ये भी पढ़ें: सैटेलाइट्स आखिर स्पेस में करता क्या है ? जानिए इसी से जुडी कुछ रोचक बातें