जिम्बॉब्वे के पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे का 95 साल की उम्र में निधन, 37 साल तक हाथ में रखी सत्‍ता

अफ्रीकी देश जिम्‍बाब्‍वे के पूर्व तानाशाह और 37 वर्षो तक देश के राष्‍ट्रपति रहे रॉबर्ट मुगाबे का आज सुबह सिंगापुर के एक अस्पताल में निधन हो गया है। उन्होंने 95 वर्ष की आयु में सिंगापुर के एक अस्‍पताल में अंतिम सांस ली। मीडिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार, मुगाबे इस साल अप्रैल से बीमार चल रहे थे। 

ये भी पढ़े: सुषमा स्वराज ने निधन से ठीक पहले ट्वीट कर लिखा था, ‘मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी’

देश की आजादी की लड़ाई में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने के बाद उन्होंने 37 वर्षों तक देश में शासन किया। उन्हें पद से हटाने के लिए देशभर में आंदोलन किया गया था। उनके तानाशाही फैसलों ने देश की अर्थव्यवस्था और सेना का काफी नुकसान किया था। सन् 2000 के जनमत संग्रह और 2008 के राष्ट्रपति चुनाव में बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। 37 वर्षों तक शासन करने के बाद रॉबर्ट मुगाबे ने 2017 में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने चिट्ठी लिखकर कहा था, कि उन्होंने स्वयं अपनी मर्जी से यह निर्णय लिया है।

रॉबर्ट मुगाबे दुनिया भर में लंबे समय तक सत्‍ता पर कब्‍जा जमाने वाले तानाशाह के रूप में मशहूर हैं। ब्रिटेन शासन से आजादी की लड़ाई लड़ने वाले मुगाबे 1980 में मिली स्‍वतंत्रता के बाद वहां की सत्‍ता पर काबिज हुए।  मुगाबे 1980 से 1987 तक प्रधानमंत्री और 1987 से 2017 तक राष्ट्रपति रहे थे। इस तरह मुगाबे लगभग  37 साल तक जिम्‍बाब्‍वे की सत्‍ता पर काबिज रहे। वर्ष 2017 में फौज के विद्रोह के बाद मुगाबे ने सत्‍ता छोड़ दी थी।

ये भी पढ़े: जानिए ऐसे 10 मौके जब सुषमा स्वराज ने ट्विटर के इस्तेमाल से लोगों की बचाई जान