कराची में 10 साल बाद खेला जाएगा इंटरनेशनल मैच, आतंकी हमले के चलते लगी थी रोक

0
209

पाकिस्तान में आतंकी गतिविधियों के चलते किसी भी देश की टीम यहाँ पर मैच नहीं खेलना चाहते, लेकिन अब एक अरसे बाद पाकिस्तान में इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी होने जा रही है। श्रीलंकाई टीम तीन मैचों की वनडे सीरीज खलेने के लिए पाकिस्तान पहुंच चुकी है| आज शुक्रवार 27 सितंबर को इस सीरीज का पहला मुकाबला कराची के नेशनल स्टेडियम में खेला जाएगा। 

Advertisement

इसे भी पढ़े: बुमराह के चोटिल होने के बाद अब इस दिग्गज गेंदबाज को टीम इंडिया में मिला मौका

जानकारी देते हुए बता दें कि, इस मैदान में लगभग 10 साल बाद कोई इंटरनेशनल मैच खेला जाएगा| इस सीरीज को लेकर कल रात पाक के कप्तान सरफराज अहमद ने अपनी खुशी जाहिर की और उन्होंने टि्वटर पर लिखा, ‘शुक्रवार को इतिहास रचने वाला है। जनवरी 2009 के बाद कराची में पहला वनडे मैच आयोजित किया जाएगा। मैं सभी क्रिकेट फैंस से अपील करता हूं कि वो इस ऐतिहासिक दिन का हिस्सा बनें, ताकि वह आने वाली पीढ़ी को बता सकें कि हमने नेशनल स्टेडियम में क्रिकेट को वापस आते देखा है।’

इसके साथ ही पाकिस्तान क्रिकेट टीम के नए कोच बने पूर्व खिलाड़ी मिस्बाह उल हक भी अपने मुल्क में क्रिकेट की वापसी को लेकर काफी प्रसन्न नजर आ रहें हैं। मिस्बाह का कहना है, ‘क्रिकेट जगत को पाकिस्तान में क्रिकेट को लेकर गंभीरता से सोचना चाहिए। दुनिया के सभी देश जो क्रिकेट खेलते हैं, उन्हें पाक में क्रिकेट की वापसी को लेकर प्रयास करने चाहिए।

इस बीच मिस्बाह ने श्रीलंकाई टीम की सरहाना भी की जो इतनी भारी सिक्योरिटी के बीच मैच खेलने पाकिस्तान गई। मिस्बाह कहते हैं, ‘मैं जानता हूं श्रीलंकाई टीम का पाकिस्तान दौरे पर आना कठिन फैसला है। मगर पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जहां क्रिकेट को बहुत प्यार मिलता है। मैं उम्मीद करता हूं कि श्रीलंका की तरह बाकी देश भी हमारी मदद करेंगे।’

इसे भी पढ़े: पाक क्रिकेट टीम के कप्तान नें दर्शकों से मैच देखने की अपील, कही ये बड़ी बात

Advertisement