सावधान : ज्यादा पसीना आना भी हो सकता खतरनाक

0
496

गर्मी के मौसम में पसीना आना आम बात होती हैं लेकिन जिन लोगों के पसीना बहुत अधिक आता हैं उनके लिए यह बड़ा खतरा भी बन सकता हैं | बता दें कि जब शरीर से पसीना बहुत ज्यादा निकलता है तो इससे मनुष्य शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से असहज होता है। ऐसा होने पर लोग विशेष ध्यान नहीं देते हैं जबकि शरीर से पसीने का अधिक श्राव होना बीमारी का कोई संकेत होता है |

Advertisement

जानकारी दें दे कि जब शरीर से अधिक पसीना निकलता है तो यह इंफेक्शन की समस्या के कारण भी हो सकता है।जैसे-  हार्ट वॉल्व में सूजन, हडि्डयों से जुड़े इंफेक्शन और एचआईवी इंफेक्शन जैसी समस्या भी हो सकती है। इसलिए अगर आपके शरीर से भी पसीना अधिक निकलता है तो आप एक बार डॉक्टर के पास अवश्य जाएँ |

हृदय संबंधी समस्या का संकेत 

यदि आपके शरीर से बिना किसी काम और एक्सर्साइज के सामान्य से अधिक पसीना निकलता है तो आप समझ लीजिये कि ये हृदय संबंधी समस्या का संकेत हैं दरअसल, अवरुद्ध धमनियों के माध्यम से खून को दिल तक पंप करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ जाती है। जिससे शरीर को अतिरिक्त तनाव में शरीर के तापमान को सामान्य बनाये रखने के लिए ज्यादा पसीना निकलता है | अगर आपको चिपचिपी त्वचा का एहसास होता है तो आप तुरंत डॉक्टर की पास जाकर जांच कराएँ |

साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें

अगर आपके शरीर से पसीना सामान्य से अधिक निकलता है तो आप अपने शरीर को बहुत ही साफ रखें | ऐसा करने से आपके शरीर से पसीना निकलने की मात्रा काम हो जायेगी और गर्मियों में 2 बार अवश्य नहायें ताकि आपका शरीर तरोताजा और साफ बना रहें |

खाने पर ध्यान रखें

आप गर्मियों में टमाटर के जूस का सेवन करें और ग्रीन टी पिए | बता दें कि एक कप टमाटर का जूस पीने से पसीने की मात्रा काफी कम हो जाती है और ग्रीन टी पीने से आपकी सेहत के साथ पसीने में भी मददगार साबित होगी | इसके अतिरिक्त गर्मी में पानी का सेवन बहुत अधिक करें जिससे आपके शरीर से दुर्गन्ध नही आयेगी और आपके शरीर में हाइड्रेट की मात्रा बनी रहेगी | आप गर्मियों में अंगूर, बादाम इन चीजों का सेवन कम करें क्योंकि, इनमें सिलिकॉन अधिक मात्र में पाया जाता है |

तनाव में न रहे

बता दें कि यदि आप चिंता, डर और तनाव में रहते हैं हैं तो इस कारण से भी शरीर से पसीना अधिक मात्रा में निकलता है | यौवनावस्था की शुरुवात होने पर शरीर में होने वाले हॉर्मोनल परिवर्तनों की वजह से शरीर में लगभग 30 लाख पसीने वाली ग्रंथियां सक्रिय होती हैं। इस तरह की प्रक्रिया सभी लोगों के साथ होती है, परन्तु जो लोग हाइपरहाइड्रोसिस से पीड़ित होते है उन्हें सामान्य लोगों से अधिक पसीना निकलता है |

Advertisement