कम ही नहीं ज्यादा सोने से भी आपके दिल पर पड़ सकता है यह प्रभाव, जानिए कैसे?

दुनिया में कुछ लोग ऐसे होते हैं, जिनके पास अपनी नींद पूरी करने के लिए बहुत कम समय रहता है, और इसके चलते वो बहुत काम सोते हैं| वहीं कुछ लोग अधिकतर समय तक सोते ही रहते हैं, लेकिन बहुत ज्यादा सोना और बहुत कम सोना, दोनों ही दिल के लिए काफी नुकसानदायक होता हैं। एक अध्ययन के मुताबिक रात में कम नींद लेने वाले लोगों में दिल के दौरे का खतरा बढ़ सकता है,जबकि दस घंटे से अधिक सोने वालों में यह खतरा दोगुना भी हो सकता है।

इसे भी पढ़े: सुबह उठते ही हाथ में उठा लेते हैं मोबाइल तो हो जाएं सावधान

अध्ययन में पाया गया कि, जिन लोगों ने पांच या उससे कम घंटे की नींद ली, उनमें दिल के दौरे का खतरा औसतन 52 प्रतिशत अधिक था। वहीं, जिन लोगों ने दस घंटे से ज्यादा समय की नींद ली, उनमें दिल के दौरे का खतरा बहुत कम सोने वालों के मुकाबले दोगुना दिखा।”

शोधकर्ताओं ने 40 से 69 वर्ष की उम्र के बीच के 4,61,000 ब्रिटिश वयस्कों पर यह अध्ययन किया, उन्होंने सभी प्रतिभागियों की सात साल तक आनुवांशिक जानकारी, नींद की आदतों और मेडिकल रिकॉर्ड की जांच की।”

इसमें पाया गया कि, धूम्रपान न करने वाले ऐसे लोग जो व्यायाम करते हैं, और उनको हृदय रोग की कोई आनुवांशिक बीमारी नहीं है, अगर वे कम नींद लेते हैं या बहुत अधिक सोते हैं, तो इससे उनको भी दिल का दौरा पड़ने की संभावना बढ़ जाती है। ये निष्कर्ष अमेरिकन कॉलेज ऑफ कॉर्डियोलॉजी के जर्नल में प्रकाशित हुए हैं।”

वहीं, कोलोराडो यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए नए शोध में पता चला है कि, एक तरफ, बहुत अधिक सोने से शरीर में सूजन बढ़ सकती है। वहीं दूसरी ओर बहुत कम सोने से ऊतक क्षतिग्रस्त हो सकते हैं और खराब खान-पान की आदतों को बढ़ावा मिलता है, जो दिल के दौरे का खतरा बढ़ाते हैं। अध्ययन के लेखक डॉ. सेलीन वैटर ने कहा, इस अध्ययन से सबसे मजबूत सबूत मिलते हैं।”

इसे भी पढ़े: आपका पसंदीदा हेडफोन आपकी सेहत का है दुश्मन, इन गंभीर बीमारियों का हो सकते है शिकार