पीएम मोदी ने किया भारत-नेपाल पाइपलाइन का संयुक्‍त उद्घाटन, कहा – ‘पेट्रोलियम पाइपलाइन रिकॉर्ड समय में पूरी’

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने संयुक्त रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारत-नेपाल के बीच मोतिहारी-अमलेखगंज पाइपलाइन का उद्घाटन किया है। इस मौके पर प्रधानमंत्री ओली ने भारत और मोदीजी को दिल से धन्यवाद दिया है। इसी के साथ उन्होंने मोदीजी से जल्द नेपाल का दौरा करने का न्यौता दिया है। इस दौरान मोदी जी ने कहा कि, हमारे संयुक्त प्रयासों का उद्देश्य है कि हमारे लोगों को लाभ मिले, उनका विकास हो।’

इसे भी पढ़े: ISRO चीफ के भावुक होने होने पर पीएम मोदी ने लगाया गले, कहा -‘हम निश्चित रूप से सफल होंगे’

प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा कि, पिछले कुछ सालों में हमारे बीच राजनीतिक स्तर पर अभूतपूर्व नजदीकी आई है, और नियमित संपर्क रहा है। पिछले डेढ़ सालों में मेरे मित्र प्रधानमंत्री ओली जी और मैं चार बार मिल चुके हैं। जितनी अपेक्षा थी, उससे आधे समय में पाइपलाइन बनकर तैयार हुई है। इसका श्रेय आपके नेतृत्व को, नेपाल सरकार के सहयोग को और हमारे संयुक्त प्रयासो को जाता है।”

इसी के साथ मोदी जी ने कहा कि, “पिछले साल हमने संयुक्त रूप से पशुपतिनाथ धर्मशाला और आईसीपी बीरगंज का उदघाटन किया था। यह बहुत संतोष का विषय है, कि दक्षिण एशिया की यह पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन रिकॉर्ड समय में पूरी हुई है। विकास के लिए हमारी साझेदारी को और सक्रिय बनाने और नए क्षेत्रों में सहयोग को और बढ़ाने के लिए हमने नए अवसरों का लाभ उठाया है।”

आगे मोदी जी नें कहा कि, हम अपने सहयोग से सभी क्षेत्रों में अच्छा प्रयोग कर रहे हैं। आपने मुझे नेपाल आने का निमंत्रण दिया है। मेरी भी प्रकृति की गोद में आने की बहुत इच्छा है। मैं जल्द आने का प्रयास करूंगा। 2015 के विनाशकारी भूकंप के बाद जब नेपाल ने पुनर्निर्माण का बीड़ा उठाया, तो भारत ने पड़ोसी और निकटतम मित्र के नाते अपना हाथ सहयोग के लिए आगे बढ़ाया। मुझे बहुत खुशी है कि, नेपाल के गोरखा और नुवाकोट जिलों में हमारे आपसी सहयोग से फिर से घर बसे हैं। आम लोगों के सिर पर फिर से छत आई है।”

इसे भी पढ़े: रूस में पीएम मोदी नें प्रेस को किया संबोधित, कहा – ‘भारत और रूस आंतरिक मामलों में किसी तीसरे के दखल के खिलाफ है’