J20 का राफेल से कोई मुकाबला नहीं : चीन

भारत में बीते दिनों 5 राफेल के भारतीय नौसेना में आने से चीन और पाकिस्तान की ओर से नकारात्मक प्रतिक्रिया आई है जिसमे चीन ने अपने सरकार अख़बार ग्लोबल टाइम्स के हवाले से कहा है कि भारतीय राफेल का चीनी मल्टी कॉम्बैट फाइटर J20 से कोई मुकाबला नहीं है, बल्कि चीन ने राफेल को तीसरी पीड़ी (3+ Generation) से बस थोडा ही एडवांस है लेकिन वह J20 जैसे चोथे जनरेशन का फाइटर प्लेन नहीं है|

यहाँ तक की आगे चीनी मिलट्री एक्सपर्ट कहते है कि राफेल Su-30 MKI से परफॉरमेंस में आगे है जोकि पहले से भारतीय भारतीय वायुसेना में शामिल है| जबकि बुधवार को ही भारत रिटायर्ड एयर फाॅर्स मार्शल बी एस धनोआ ने हिंदुस्तान अख़बार के माध्यम से कहा कि राफेल एक गेम चेंजर है और चीनी J20 इसके पास तक नहीं आता|

हालाकि स्थिति को देखते हुए भारत को सेना के अनुसार अभी 122 राफेल जैसे विमान भारतीय सेना में होने चाहिए जिससे ड्यूल फ्रंटवार का खतरा न रहे| भारत को आशंका है कि चीन से युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान भी उस पर युद्ध कर सकता है| लेकिन पाकिस्तान ने दावे को खारिज किया है और भारत पर उल्टा ही आरोप लगाया है वह चीन युद्ध के बहाने POK पर कब्ज़ा करना चाहता है|