चीन की अर्थव्यवस्था के भविष्य को लेकर कारोबारी चिंता में चिंतित, बहुत से लोग छोड़ रहे हैं देश

0
183

वर्तमान समय में चीन की अर्थव्यवस्था उसके लिए चिंता का विषय बन चुका है| अमेरिका के साथ चल रहे ट्रेड वॉर चीन की  अर्थव्यवस्था को कमजोर कर दिया है|  कुछ चीनी कारोबारी चीनी अर्थव्यवस्था को लेकर अभी भी अपना नजरिया सकारात्मक बनाये हए हैं, वहीं अनेको ऐसे व्यापारी हैं, जो हालातों को देखते हुए देश छोड़ने पर मजबूर हो रहे हैं।

Advertisement

न्यू यॉर्क टाइम्स द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, चीन के शंघाई शहर में रियल एस्टेट डेवलपर के रूप में कार्य करने वाले चन तियनयॉन्ग ने पिछले माह अपना कारोबार समाप्त कर माल्टा चले गये, और अब भविष्य में उनके लौटने की कोई संभावना नहीं है| उन्होंने जाने के बाद सोशल मीडिया पर 28 पेज का एक लेख लिखा और विस्तार से बताया, कि उन्होंने चीन क्यों छोड़ दिया ?

चन तियनयॉन्ग द्वारा लिखे गये लेख में बड़ी सोचनीय स्थित दर्शायी गयी है, उन्होंने लिखा, कि चीन की अर्थव्यवस्था उस बड़े जहाज की तरह है, जो डूबने जा रहा है, जहाज का डूबना निश्चित है, और पैसेंजर मारे जाएंगे | मेरे दोस्तों, यदि आप इसे छोड़ सकते हैं, तो कृपया जितनी जल्दी संभव हो व्यवस्था कर लें | रिपोर्ट के अनुसार चन द्वारा लिखी गयी यह बातें कितने लोगों ने पढ़ा, यह स्पष्ट नहीं है, पर चन ने सार्वजनिक रूप से वहीं बातें कहीं हैं| हालाँकि चीन में सेंसर्ड इंटरनेट से इस लेख को हटा दिया गया है |

हाल ही में हुए सर्वे के अनुसार, चीन के सिर्फ एक तिहाई अमीर कहते हैं, कि वह चीन के आर्थिक परिदृश्यों को लेकर बहुत आशावादी हैं, जबकि दो वर्ष पूर्व लगभग दो तिहाई लोगों ने कहा था, कि उनमें बहुत विश्वास है|  पूरी तरह विश्वास खो चुके लोगों की संख्या भी 2018 की तुलना में दोगुनी हो गई है, और अब लगभग 14 फीसदी लोग इस श्रेणी में आ चुके है, जिसमें में पचास प्रतिशत लोगों ने कहा कि, वह किसी दूसरे देश में जाने की सोच रहे हैं, और उन्होंने प्रक्रिया आरंभ कर दी है|

वर्ष 2018 में चीन की आर्थिक विकास दर 6.6 फीसदी रही, जो 28 वर्षों का निचला स्तर है|  अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के अनुसार वर्ष 2019 -2020 में चीन की अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 6.2 प्रतिशत रहने का अनुमान है |

Advertisement