गृह मंत्री अमित शाह ने दिया ‘वन नेशन वन कार्ड’ का प्रस्ताव, 2021 में होगी डिजिटल जनगणना

आज सोमवार 23 सितंबर को गृह मंत्री अमित शाह ने 2021 में होने वाली जनगणना में आकंड़े मोबाइल एप से जुटाए जाने की घोषणा कर दी हैं| इसी के साथ अमित शाह ने प्रत्येक नागरिक के लिए पासपोर्ट, आधार, वोटर कार्ड के साथ-साथ सभी पहचान पत्रों को मिलाकर एक आईडी कार्ड बनाने पर काम करने को लेकर भी कहा है|

इसे भी पढ़े: अमित शाह ने पीएम मोदी को खास अंदाज में दी बधाई, कहा- ‘आपका परिश्रम और संकल्प प्रेरणास्त्रोत’

अमित शाह ने कहा, ‘‘आधार, पासपोर्ट, बैंक खाते, ड्राइविंग लाइसेंस, और वोटर कार्ड जैसी सभी सुविधाओं के लिए एक ही कार्ड हो सकता है, इसकी संभावनाएं हैं |’’ इसी के साथ गृह मंत्री ने कहा, ”सरकार इस बार की जनगणना में अभी तक का सबसे ज्यादा खर्च करने जा रही है|  हम इस बार की जनगणना और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर तैयार करने में करीब 12 हजार करोड़ रुपये खर्च करने जा रहे हैं| तकनीक के आधुनिक रूप का उपयोग करते हुए 2021 में डिजिटल तरीके से जनगणना की जाएगी |”

जनगणना भवन की आधारशिला रखे जाने के मौके पर मौजूद शाह ने कहा, ‘पेपर पर जनगणना से डिजिटल जनगणना का ट्रांसफोर्मेशन होने का काम 2021 की जनगणना के बाद समाप्त होगा| जनगणना का डिजिटल डाटा उपलब्ध होने से अनेक प्रकार के विश्लेषण के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं, उन्होंने कहा कि, ‘इस तरह की प्रणाली होनी चाहिए जिसमें किसी व्यक्ति की मृत्यु होते ही यह जानकारी जनसंख्या आंकड़े में अपडेट हो जाए|’

इसे भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने NSA अजित डोभाल और IB चीफ से की मुलाकात