उत्तर प्रदेश: शराब पर लगे टैक्स से सड़क पर नहीं घूमेंगे अब आवारा पशु – जाने ‘गो कल्याण टैक्स’ के बारे में

0
152

(उत्तर प्रदेश), वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश के सभी गाँव, शहरों में गायों की भरमार है, गायों की संख्या इतनी अधिक होने से लोगों को अनेक प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, साथ ही सडकों पर आवारा पशुओं के घूमने से हादसो की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है, इसलिए अब उत्तर प्रदेश सरकार नें आवारा घूम रहे गायों के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में गोवंश आश्रय स्थल का निमार्ण करवानें का निर्णय लिया है | इसके लिए ऐसी व्यवस्था की जायेगी कि प्रत्येक गोवंश स्थल में कम से कम 1000 गायों को रखा जा सके । गोवंश की देखरेख करने वाले मवेशियों के खर्च के लिए सरकार ने शराब समेत और भी काफी चीजों पर ‘गो कल्याण टैक्स’ लगाने की तैयारी की है ।

Advertisement

सरकार का मानना है, कि गो कल्याण लगाने से प्रत्येक वर्ष लगभग 300-400 करोड़ रुपये की बचत होगी, जिसे गायों की देखभाल में खर्च किया जाएगा । गोवंश स्थल के निर्माण के लिए सरकार पहले से ही 100 करोड़ रुपये उपलब्ध करा चुकी है | मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया है |

श्रीकांत शर्मा के अनुसार आबकारी विभाग में मौजूदा राजस्व के अतिरिक्त सेस लगाया जाएगा। वहीं, मंडी परिषद की मंडी शुल्क से होने वाली आय का 2 फीसदी हिस्सा इसमें व्यय किया जायेगा | वहीं, फायदे में चल रहे उपक्रमों व निर्माण संस्थानों मसलन राजकीय निर्माण निगम, सेतु निगम, यूपीएसआईडीसी भी अपने मुनाफे से आधा फीसदी गो कल्याण के लिए देंगे। यूपिडा के लगाए जा रहे टोल टेक्स में भी 0.5 फीसदी अतिरिक्त गो कल्याण सेस लिया जाएगा।

Advertisement