2020 की नीट परीक्षा होगी हाईटेक कसेगी अब नकल पर नकेल – पढ़े पूरी जानकरी

0
205

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल को प्रतिबंधित करनें तथा परीक्षा को पूरी तरह से पारदर्शी बनाने के उददेश्य से कंप्यूटर आधारित परीक्षा संपन्न करायी गई। ऐसे में यूजीसी नेट की पहली कंप्यूटर आधारित परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें के पश्चात, अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी वर्ष 2020 में मेडिकल प्रवेश परीक्षा भी कंप्यूटर आधारित कराने की पूरी तैयारी में है।

Advertisement

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर के अनुसार,  यूजीसी नेट परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की कंप्यूटर आधारित परीक्षा सबसे बड़ी सफलता है,  जावडेकर ने कहा कि, जेईई मेन परीक्षा का पहला चरण 8 से 12 जनवरी और दूसरा छह से 12 अप्रैल तक चलेगा, छात्र इन दोनों परीक्षाओं में भाग ले सकते हैं | एक अनिवार्य पेपर दस शिफ्टों में आयोजित किया जाएगा, इसमें 40 हजार जैमर लगेंगे, अर्थात 23 छात्रों पर एक जैमर हाईटेक नकल रोकने में सक्षम होंगे ।

पिछले कई वर्षो से प्रतियोगी परीक्षाओं में हाईटेक नकल की खबरें निरंतर आ रही थी, इस प्रकार की हाईटेक नकल को प्रतिबंधित करनें हेतु अब परीक्षाओं का आयोजन कंप्यूटर माध्यम से किया जायेगा, चूँकि परीक्षा के आयोजन से सम्बंधित सभी जिम्मेदारियां   नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को दी गयी है, एनटीए ने जेईई मेन परीक्षा के आठ जनवरी से शुरू हो रहे पहले राउंड की तैयारी पूरी कर ली है , इस परीक्षा में लगभग 9.50 लाख छात्र सम्मिलित होंगे ।

Advertisement