केंद्र सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री की एसपीजी सुरक्षा हटाई, जेड प्लस सुरक्षा रहेगी बरकरार

अभी तक केंद्र सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को दी गयी स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप की सुरक्षा वापस ले ली है| बता दें कि, गृह मंत्रालय ने अब उन्हें CRPF की सुरक्षा में रखने का फैसला किया है| सूत्रों का कहना है कि, मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा हटाने का फैसला रिव्यू में किया गया| यह सुरक्षा देश के बड़े नेताओं को उपलब्ध कराई गई है| जैसे- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी और बेटी प्रियंका गांधी|  

इसे भी पढ़े: डॉ. मनमोहन सिंह का इस बार संसद में जाना हो सकता है मुश्किल

मीडिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार, मनमोहन सिंह नें कहा कि “वह खुद व्यक्तिगत रूप से सुरक्षा को लेकर चिंतित नहीं है, वह सरकार के फैसले के साथ जाने के लिए तैयार हैं|”

इंदिरा गांधी की उनके सुरक्षा गार्डों द्वारा हत्या करने के बाद प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए साल 1985 में एसपीजी की स्थापना हुई थी| बता दें कि, साल 1991 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या कर दी गई| जिसके बाद ही एसपीजी एक्ट में संशोधन किया गया और इसमें पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिवार को अगले 10 साल तक एसपीजी सुरक्षा देने का फैसला किया गया है| 

इसे भी पढ़े: प्रियंका गांधी ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना, पूछा ये बड़ा सवाल