पृथ्वी दिवस 2019 : जानिये क्या है पृथ्वी दिवस मनाने के पीछे का सम्पूर्ण इतिहास

पृथ्वी दिवस 2019: क्या आप जानते हैं कि पृथ्वी दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? यदि आपको इसके बारे में कोई भी जानकारी नहीं हैं तो जानिए क्या है पृथ्वी दिवस मनाने के पीछे का सम्पूर्ण इतिहास?

बता दें कि पृथ्वी दिवस की स्थापना अमेरिकी सीनेटर गेलोर्ड नेल्सन (Gaylord Nelson) ने की थी इन्होंने इसकी स्थापना सन् 1970 में पर्यावरण शिक्षा के रूप में की थी। इस दिवस को मनाने के लिए 22 अप्रैल की तारीख निश्चित की गई थी तब से आज तक इस दिवस को 192 से अधिक देशों के 1 अरब से भी ज्यादा लोग मनाते हैं |

इसे भी पढ़े: सोलर सिस्टम के आठवें ग्रह नेप्च्यून का मिला नया चांद, खगोल-विज्ञानियों ने इसे दिया हिप्पोकैंप नाम

अब आज के ही दिन मतलब 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस के मौके पर 192 देशों से अधिक लोग इस दिन प्रतिवर्ष पृथ्वी पर रहने वाले तमाम जीव-जंतुओं और पेड़-पौधों को बचाने के लिए तथा इस दिन धरा की धानी चुनर को बनाए रखने और हर प्रकार के जीव-जंतुओं को पृथ्वी पर उनके हिस्से का स्थान और अधिकार देने का संकल्प लिया जाता है | जुलियन कोनिग ने “पृथ्वी दिवस या अर्थ डे” का नाम दिया था और इस दिवस को मनाने के लिए 22 अप्रैल का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि इस दिन केनिग का जन्मदिन भी मनाया जाता है |

वहीं एक पारिस्थितिक प्रतीक (Ecological symbol) का निर्माण रोन कोब्ब ने किया, इसी के बाद ही इसेही पृथ्वी दिवस के प्रतीक के रूप में अपनाया गया था। इसे “E” व “O” अक्षरों को जोड़कर बनाया गया था जिसमे “E” “Environment” व “O” “Organism” को दर्शाता है।

इसे भी पढ़े: विज्ञान भी नहीं बता पाया है ज़िंदगी की इन सच्चाइयों को- क्या आप जानते हैं