फेक रिव्यू से रहिये सावधान अगर ऑनलाइन शापिंग करते हैं तो फंस सकते हैं – जानिए कैसे

    दुनिया में बहुत से ऐसे लोग हैं जो ऑनलाइन शॉपिंग करने का रास्ता अपनाते हैं | कुछ लोग तो अक्सर ऑनलाइन शॉपिंग करके कुछ न कुछ मंगवाया ही करते हैं यदि आप भी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो इससे सावधान रहिये नहीं तो फेक रिव्यू से आप भी फँस सकते हैं | बता दें कि दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन हैं इसी का फायदा उठाते हुए फेसबुक ग्रुप पर अमेजन के ऑनलाइन ग्राहकों को फेक रिव्यू के माध्यम से  फंसाया जा रहा है।

    इसे भी पढ़े: अमेजन-वॉलमार्ट को मिलने वाली है कड़ी टक्कर, रिलायंस नई ई-कॉमर्स कंपनी लेके आ रही है

    वहीं ब्रिटेन के कंज्यूमर एडवोकेसी ग्रुप विच के साथ-साथ और भी काफी कंपनियों और उद्यमियों ने इस बात को स्वीकार करते हुए बताया है कि फेसबुक ग्रुप के माध्यम से ही अमेजन की साइट पर बिकने वाले प्रोडक्ट्स का फेक रिव्यू किया जा रहा है। इसके अलावा काफी उत्पादों को अपने तरीके से रेटिंग देकर अमेजन के दुनिया भर में फैले 260 करोड़ ग्राहकों को इसे बेचकर फंसाने का काम किया जा रहा है।

    विच के मुताबिक, अभी अमेजन या किसी दूसरी साइट पर खरीदे जाने वाले प्रोडक्ट का रिव्यू देने वाले लोगों का कोई प्रमाण नहीं है। विच ने अपनी रिसर्च में हेडफोन, स्मार्च वाच और वियरेबल डिवाइस के साथ-साथ अमेजन पर लिस्ट 14 टेक प्रोडक्ट के लिए जाँच की तो उसने पाया कि हेडफोन के लिए प्रोडक्ट पर पहले बेस्ट रिव्यू दिए गए थे, जिसमें 100% ऐसे ब्रांड के आइटम बेचे जा रहे थे, जिनके बारे में एक्सपर्ट्स ने पहले कभी सुना ही नहीं था |

    वहीं अब अमेजन ने सामान डिलीवरी के समय फ्रॉड न हो इसलिए एक अलग उपाय सोच निकाला है | कंपनी ने अपने डिलीवरी बॉय को आदेश देते हुए कहा है कि वे अपने दिन की शुरुआत में एक सेल्फी लेकर हमे भेज दें जिससे समय-समय पर उनके रिकॉर्ड का वेरिफाई हो सके |

    इसे भी पढ़े: माइक्रोसॉफ्ट को पीछे करके, ऐमजॉन बनी दुनिया की सबसे वैल्युएबल कंपनी