रूस बोला, भारत तय समय पर ही प्राप्त करेगा S-400 मिसाइलें

0
108

भारत नें  पिछले वर्ष अक्टूबर माह में  रूस के साथ 40 हजार करोड़ रुपये की लागत से मिसाइल प्रणालियां खरीदने का समझौता किया था, जिस पर अमेरिका द्वारा प्रभावी रूप से चेतावनी दी गयी थी, परन्तु भारत नें अमेरिकी चेतावनी के बावजूद यह सौदा किया था | निर्धारित समझौते के अनुसार रूस द्वारा भारत को एस-400 वायु रक्षा प्रणालियां उपलब्ध कराना था |

Advertisement

भारत को निर्धारित समय के अनुसार एस-400 वायु रक्षा प्रणालियां उपलब्ध ना होनें पर रूस द्वारा स्पष्टीकरण दिया गया है, कि भारत को अगले वर्ष अक्टूबर से रूस से मिसाइल प्रणालियां मिलना आरंभ हो जाएंगी और अप्रैल 2023 तक आपूर्ति पूरी कर दी जाएगी |

रूस की इस तकनीक से प्रभावित होकर चीन नें भी एस-400 वायु रक्षा प्रणाली खरीदी है, जबकि चीन को इस रक्षा प्रणाली की पहली खेप की डिलीवरी पिछले दिनों प्राप्त हो चुकी है, जिसका परीक्षण भी किया जा चुका है | ऐसे में भारत सरकार नें रूस से वार्ता कर स्पष्टीकरण माँगा, जिस पर रूस के उपविदेश मंत्री सरजेई रयाबकोव ने कहा कि, इससे सम्बंधित जानकारी लोकसभा में  दी थी, कि उसे अगले वर्ष अक्टूबर से रूस से मिसाइल प्रणालियां उपलब्ध हो जाएंगी |

Advertisement