अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत से आज आएगा फैसला, कुलभूषण जाधव (49) को सुनाई थी मौत की सजा

0
53

पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में जेल में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के केस में आज अंतरराष्ट्रीय अदालत अपना निर्णय सुनाएगी। इस मौके के लिए पाकिस्तान के कानूनी विशेषज्ञों की एक टीम हेग पहुंच चुकी है। पाकिस्तान मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान की कानूनी टीम का नेतृत्व देश के महान्यायवादी मंसूर खान कर रहे हैं। टीम के साथ पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल भी हेग पहुंच चुके हैं। नीदरलैंड के द हेग में स्थित इंटरनैशनल कोर्ट में भारतीय समयानुसार शाम 6:30 बजे से सार्वजनिक सुनवाई होगी। इसमें प्रमुख न्यायाधीश अब्दुलकावी अहमद यूसुफ फैसला पढ़कर सुनाएंगे।

Advertisement

ये भी पढ़े: मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकवादी हाफिज सईद पाकिस्तान में किया गया गिरफ्तार, न्यायिक हिरासत में भेजा गया

पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत द्वारा जाधव को दबाव वाले कबूलनामे के आधार पर मौत की सजा सुनाने को भारत ने आईसीजे में चुनौती दी है| पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में बंद कमरे में सुनवाई के बाद जासूसी और आतंकवाद के आरोपों में भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव (49) को मौत की सजा सुनाई थी| भारत नें उनकी सजा पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी|

इस चर्चित मामले में फैसला आने से लगभग पांच माह पूर्व न्यायाधीश यूसुफ की अध्यक्षता वाली आईसीजे की 15 सदस्यीय पीठ ने भारत और पाकिस्तान की दलीलें सुनने के बाद 21 फरवरी को अपना फैसला सुरक्षित रखा था| इस मामले की कार्यवाही पूरी होने में दो वर्ष दो महीने का समय लगा|  पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा, कि पाकिस्तान ने आईसीजे में इस मामले में अपना पक्ष जोरदार तरीके से रखा है| सरकारी ‘एसोसिएट प्रेस ऑफ पाकिस्तान’ ने फैसल के हवाले से कहा, ‘‘पाकिस्तान अच्छे की आशा कर रहा है, और वह आईसीजे का फैसला स्वीकार करेगा.”|

बता दें, कि भारत के कुलभूषण जाधव फिलहाल पाकिस्तान की जेल में बंद हैं| पाकिस्तान का दावा है, कि कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने 3 मार्च 2016 को जासूसी और आतंकवाद के आरोप में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था, जासूसी के मामले में पाकिस्तान स्थित मिलिटरी कोर्ट ने अप्रैल 2017 में मौत की सजा सुनाई थी, जिसके खिलाफ भारत ने मई 2017 में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में अपील की थी|

ये भी पढ़े: जेल से छूटने के बाद ऋचा भारती ने कुरान बांटने से कर दिया इनकार, कहा- कल नमाज पढ़ने को भी कहेंगे

Advertisement