जेट एयरवेज पर मड़राया भारी संकट, कुछ ही मिनट में डूब गए लोगों के करोड़ों रुपये

अब इस कंपनी में निवेश करने वाले लोगों को भारी नुकसान हुआ हैं| बता दें, कि जेट एयरवेज के अस्थाई तौर पर ऑपरेशन बंद करने की जैसे खबर आई उसके बाद गुरुवार 18 अप्रैल की सुबह कंपनी के शेयर में 30 फीसदी से भी अधिक की गिरावट दर्ज हुई है|

अब इस तरह में निवेशकों के कुछ ही मिनटों में 700 करोड़ रुपये से अधिक डूब गए हैं | वहीं एक्सपर्ट्स ने कहा है कि यदि किसी निवेशक के पास शेयर है, तो वह निवेशक  उसे घाटे में ही बेचकर निकल जायें क्योंकिजेट एयरवेज पर भारी संकट मड़रा रहा हैं अभी कंपनी को लेकर कुछ भी साफ नहीं हुआ है|

यह भी पढ़े: जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने दिया इस्तीफा, कंपनी ने औपचारिक तौर पर दी जानकारी

एसकोर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल ने जानकारी देते हुए बताया, कि शेयर बाजार बंद होने के बाद जेट एयरवेज की मार्केट कैप 2735 करोड़ रुपये थी, जो गुरुवार 18 अप्रैल को शेयर बाजार खुलने के बाद सुबह गिरकर 2000 करोड़ रुपये हो गई है| ऐसे में निवेशकों के 700 करोड़ रुपये से भी ज्यादा डूब चुके हैं,  इसलिए यदि अभी भी किसी के पास शेयर है, तो उसे तुरंत बेचकर निकल जायें |

जानकारी देते हुए बता दें, कि बैंकों से इमरजेंसी फंड नहीं मिलने के कारण जेट एयरवेज ने बुधवार 17 अप्रैल की रात से सभी उड़ानें बंद कर दीं |तभी एयरलाइन के शेयरों में बिकवाली बढ़ गई है |

अब जेट एयरवेज के कर्जदाताओं ने तय कर लिया है, कि एयरलाइन को बचाने के लिए समर्थ निवेशकों से सशर्त बोलियां मांगना सबसे अच्छा तरीका है|  पहले चरण में मिले प्रस्तावों (एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट) के आधार पर चुने गए निवेशकों को 16 अप्रैल को बोली के दस्तावेज जारी कर दिए गये हैं| यह प्रक्रिया 10 मई तक पूरी हो जायेगी |

यह भी पढ़े: PM मोदी कांग्रेस पर जमकर बरसे, कहा – ‘हिन्दू कभी आतंकवादी नहीं हो सकता’