रायबरेली लोकसभा सीट पर किस पार्टी का पड़रा है, इस बार क्या है यहाँ की जनता राय

रायबरेली लोकसभा सीट को वीआईपी सीट के नाम से जाना जाता है| यहाँ पर अब तक 19 लोकसभा चुनाव हो चुके है जिसमे 16 बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की| 1977 में भारतीय लोकदल के राज नारायण ने इस सिलसिले को तोड़ दिया| इस सीट पर 1996 और 1998 में भाजपा ने जीत दर्ज की|

ये भी पढ़ें: रायबरेली लोकसभा चुनाव परिणाम अब तक क्या रहे, कितने है इस सीट पर मतदाता

लोकसभा चुनाव 2014 में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने यूपी में 73 सीटों पर जीत हासिल की थी, लेकिन कांग्रेस की परंपरागत सीट रायबरेली से बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा था | यूपी में कांग्रेस के प्रचार की कमान प्रियंका गाँधी के पास है | प्रियंका गांधी ने रायबरेली में सोनिया के भेजे संदेश को पढ़कर लोगों में भावनात्मक प्यार जगा दिया है | अभी तक नतीजों के हिसाब से यहां पर कांग्रेस का पलड़ा भारी है|

बीजेपी ने भी कांग्रेस के पुराने साथी और एमएलसी दिनेश सिंह को पार्टी में शामिल कर लिया है | यह कांग्रेस पार्टी को नुकसान पंहुचा सकते है| अभी तक  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रायबरेली में आधुनिक रेल कोच कारखाने और 558 करोड़ रुपये की लागत से बने रायबरेली-बांदा हाइवे का लोकार्पण किया है| रायबरेली की जनसंख्या 24,03,705 है जिसमे कि 89 फीसद ग्रामीण है और 11 फीसद शहरी हैं| जनता विकास को अधिक पसंद कर रही है, विकास चाहे भाजपा करे या कांग्रेस जनता उसी हिसाब से वोट करना पसंद कर रही है|

चुनाव परिणाम 2014

उम्मीदवार पार्टी वोट प्रतिशत
सोनिया गांधी कांग्रेस 526,434 63.80%
अजय अग्रवाल भाजपा 173,721 21.05%
प्रवेश सिंह बसपा 63,633 7.71%

चुनाव परिणाम 2009

सोनिया गांधी कांग्रेस 4,81,490 72.23
आरएस कुशवाहा बसपा 1,09,325   16.40
आरबी सिंह भाजपा 25,444 3.82

ये भी पढ़ें: लखनऊ लोकसभा सीट का इतिहास क्या कहता है, कितने है इस निर्वाचन क्षेत्र में वोटर्स