मोदी की कैबिनेट में नहीं शामिल होंगे अरुण जेटली, क्या रही वजह – पढ़ें पूरी खबर

0
326

लोकसभा चुनाव का समापन हो गया है, और इसके नतीजे घोषित होने के बाद एक बार फिर बीजेपी सरकार ने अपनी सत्ता कायम कर ली है| मोदी सरकार में वित्त मंत्री रहे भाजपा के दिग्गज नेता अरुण-जेटली ने दोबारा मंत्रिमंडल ने चुने जाने को लेकर पीएम मोदी से अपील की है। इस सम्बन्ध में अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें उन्होंने आग्रह किया है उन्हें दोबार मंत्रिमंडल में कोई जिम्मेदारी न दी जाए।

Advertisement

इसे भी पढ़े: PM मोदी के शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां जोरों पर, किसे मिल सकता है कौन सा मंत्रालय – जाने

इस पत्र में अरुण जेटली ने अपने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए ये अपील की है। आगे लिखते हैं कि, पिछले 18 महीनों से वो स्वास्थ्य संबंधी चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। मेरे डॉक्टरों ने कठिन से कठिन हालात में मुझे बाहर निकाला। चुनाव प्रचार समाप्त होने के बाद आप केदारनाथ जा रहे थे। मुझे आपको मौखिक तौर पर ये सूचित करना पड़ा था, कि हालांकि मैं चुनाव प्रचार के दौरान अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने के लिए तैयार था, लेकिन आने वाले दिनों में वो कुछ समय के लिए जिम्मेदारियों से दूर रहना चाहते हैं।

इसे के साथ अरुण जेटली आगे लिखते हैं कि, जिम्मेदारियों से दूर रह कर वो अपने उपचार और स्वास्थ्य पर ध्यान दे सकेंगे। बीजेपी और एनडीए ने आपके नेतृत्व में अविस्मरणीय जीत हासिल की है। गुरुवार को अगली सरकार शपथ लेगी।

मैं यह खत औपचारिक तौर पर ये बताने के लिए लिख रहा हूं, कि मुझे इलाज और बेहतर स्वास्थ्य के लिए कुछ समय चाहिए। इसलिए वह नई सरकार में किसी तरह की जिम्मेदारी उठाने में सक्षम नहीं होंगे। ये बात अलग है, कि अगर उन्हें किसी तरह की जिम्मेदारी दी गई तो, वो उसे अनौपचारिक तौर पर निर्वहन करेंगे।

इसे भी पढ़े: अब कांग्रेस नेता ने भी PM मोदी की तारीफ, कहा- ‘नीतियों में गरीब का चेहरा याद रखना चाहिए, मोदी ने सटीक तरीके से इसे अपनाया’

Advertisement