MeToo: नाना पाटेकर के खिलाफ सबूत न मिलने पर मी टू केस से बरी, फिर तनुश्री दत्ता ने कही बड़ी बात

बॉलीवुड एक्टर नाना पाटेकर के ऊपर यौन उत्पीड़न का केश दर्ज था, लेकिन अब नाम को तनुश्री दत्ता के आरोपों से बड़ी राहत मिल गई है|  मीटू मूवमेंट (#Metoo) के तहत नाना पाटेकर पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों के संबंध में मुंबई पुलिस ने पूरी जांच करने के बाद कोर्ट में बी समरी रिपोर्ट पेश कर दी हो| वहीं मुंबई पुलिस का कहना है, कि नाना पाटेकर के खिलाफ तनुश्री दत्ता द्वारा लगाए गए आरोपों के संबंध में उन्हें अब तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिल पाया है|  

इसे भी पढ़े: जानिए मोदी टीम के सबसे ख़ास 3 अफसरों के बारे में जो हैं टीम का अहम हिस्सा

बता दें की एक वर्ष पहले  मीटू मूवमेंट (#Metoo) के तहत तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर उनसे गलत व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए केश दर्ज कर दिया था, लेकिन अब जाकर आज 14 जून को इस केश की पूरी सुनवाई हो गई है| मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, मुंबई पुलिस ने तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर के केस में ‘बी समरी’ रिपोर्ट तैयार कर ली है, ताकि यदि पुलिस आरोपी में कोई सबूत न इकठ्ठा कर पाएं तो,  वह इस समरी रिपोर्ट को दायर कर सके |

नाना पाटेकर को लेकर मुंबई पुलिस की रिपोर्ट पर तनुश्री दत्ता  ने भी अपना बयान देते हे कहा है, कि एक भ्रष्ट पुलिस और कानूनी प्रणाली ने भ्रष्ट व्यक्ति नाना पाटेकर को क्लीन चिट दे दी, जो अभी भी कई महिलाओं को डराने, धमकाने और उन्हें प्रताड़ित करने के आरोपी हैं|

इसे भी पढ़े: प्रधानमंत्री किसान पेंशन स्कीम : किसानो को हर महीना जमा करना होगा 100 रूपये प्रीमियम, 60 वर्ष उम्र बाद मिलेगे 3 हज़ार महीना पेंशन