पेड़-पौधे लगाने के मामले में भारत और चीन विश्व में है सबसे आगे: नासा

0
526

आजकल हर देश में पेड़-पौधे लगाये तो जाते हैं, इस मामले में इन देशों ने विश्व के सभी देशो को पछाड़ दिया है जिनके नाम भारत और चीन है, जो पेड़-पौधे के मामले में विश्व में सबसे आगे पाए गये| यह जानकारी नासा (NASA) के एक रिसर्च में दी गई है | इस जानकारी के मुताबिक, सोमवार को बताया गया कि,दुनिया पेड़-पौधे लगाने के मामले में 20 साल पहले की तुलना में अब ज्यादा आगे बढ़ चुकी है |

Advertisement

अध्ययन के लेखक ची चेन ने जानाकरी दी कि ग्रह की वन आच्छादित भूमि का नौ प्रतिशत क्षेत्र चीन और भारत का हैं जिसके मुताबिक एक तिहाई पेड़-पौधे भारत और चीन में पाए जाते है | वहीं’नेचर सस्टेनेबिलिटी पत्रिका’ में बताया गया है कि कुछ समय पहले ही उपग्रह आंकड़ों (2000-2017) में पेड़-पौधे लगाने की इस प्रक्रिया के बारे में मालूम हुआ है जो मुख्य रूप से भारत और चीन है।

चीन में पेड़ पौधों को लेकर 25 प्रतिशत योगदान में बढ़ोत्तरी पाई गई है| यह वैश्विक वनीकरण क्षेत्र का सिर्फ 6.6 प्रतिशत है। नासा के अध्ययन के मुताबिक, चीन वनों (42 प्रतिशत) और कृषिभूमि (32 प्रतिशत) की वजह से हरा भरा हुआ है वहीं भारत में कृषिभूमि (82 प्रतिशत) और वनों (4.4 प्रतिशत) ही है । चीन अभी भी भूक्षरण, वायु प्रदूषण एवं जलवायु परिवर्तन को कम करने के लिए वनों में बढ़त और उन्हें संरक्षित करने के लिए काम जारी किये है |  

वर्ष 2000 के बाद भारत और चीन में खाद्य उत्पादन में 35 प्रतिशत से भी ज्यादा बढ़त हुई है | पेड़-पौधों के मामले में भारत और चीन 1970 और 1980  में बिल्कुल बेकार था लेकिन 1990  में लोगों को इसका ज्ञान हुआ और आज पूरा परिवर्तन देखने को मिला |

Advertisement