विक्रम लैंडर का पता लगाने में अब नासा करेगा मदद, NASA का ऑर्बिटर मंगलवार को भरेगा उड़ान

भारत के चंद्रयान-2 मिशन के तहत चंद्रमा पर गए विक्रम लैंडर का पता लगाने में अब इसरो की मदद अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा भी करेगी। मंगलवार को नासा का ऑर्बिटर चंद्रमा की सतह पर उस जगह के ऊपर से उड़ान भरेगा, जहां विक्रम ने लैंडिंग की है। इसके साथ ही नासा का ऑर्बिटर लैंडिंग साइट की तस्वीरें भी भेज सकता है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, जिससे विक्रम लैंडर से संपर्क करने में सफलता मिल सके| वहीं विक्रम लैंडर के बारे में इसरो ने भी  मालूम कर लिया और उससे संपर्क बनाने की पूरी कोशिश की जा रही हैं। 

इसे भी पढ़े: ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का चांद पर उतरते समय इसरो से टूट गया संपर्क, यहाँ पढ़े पूरी खबर

स्पेसफ्लाइट नाउ ने नासा के ऑर्बिटन के प्रॉजेक्ट साइंटिस्ट नोआह पेत्रो के हवाले से लिखा है कि, नासा का ऑर्बिटर 17 सितंबर यानी मंगलवार को विक्रम की लैंडिंग साइट के ऊपर से गुजरेगा। पेत्रो ने कहा कि, नासा की नीति की मुताबिक उसके ऑर्बिटर का डेटा सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध होता है।”

इसी के साथ पेत्रो ने कहा कि, हमारा ऑर्बिटन विक्रम लैंडर की साइट से ऊपर से गुजरेगा तो उसकी तस्वीरें जारी करेगा ताकि इसरो को पूरी स्थिति का विश्लेषण करने में मदद मिल सके। वहीं, इसरो ने मंगलवार को बताया था कि, चंद्रयान 2 के ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर का पता लगा लिया है।”

इसे भी पढ़े: रोकी गई चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग, वैज्ञानिकों ने बताई यह वजह