प्रियंका वाड्रा की हो रही देशभर में चर्चा, उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रभारी और पार्टी की महासचिव बनीं

0
151

लोकसभा चुनाव -2019 से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा को पार्टी महासचिव का पद देते हुए पूर्वी उत्तर प्रदेश का महासचिव नियुक्त किया है। 47 वर्षीय प्रियंका गांधी अभी विदेश में हैं, और वह फरवरी के पहले सप्ताह से इन जिम्मेदारियों को संभालेंगी।

Advertisement

प्रियंका के साथ-साथ मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी की ओर से पश्चिमी उत्तर प्रदेश का महासचिव नियुक्त किया गया है, जबकि केसी वेणुगोपाल को पार्टी के मुख्य महासचिव बनाया गया है।

राहुल गांधी ने प्रियंका गांधी की नियुक्ति पर कहा, कि प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया उत्तर प्रदेश के युवाओं के सपनों को पूरा करेंगे| प्रियंका गांधी की एंट्री से कांग्रेस की विचारधारा उत्तर प्रदेश में आएगी, प्रियंका गांधी एक कर्मठ नेतृत्व देने में सफल होंगी। मुझे ख़ुशी है, कि वह अब मेरे साथ काम करेंगी।

टीवी चैनल और सोशल मीडिया पर सिर्फ प्रियंका गांधी को लेकर राजनीतिक बहस छिड़ गई है।  अभी तक किसी भी पार्टी में किसी को महासचिव बनाये जाने राजनीति में कभी इस तरह की हलचल नहीं देखने को मिली|

यह हलचल इतनी प्रभावी रही,कि केन्द्र सरकार का बनारस में प्रवासी भारतीय दिवस कोई खास स्थान नहीं बना पाया,  प्रधानमंत्री के प्रवासी भारतीय दिवस में भाषण को भी प्रमुखता नहीं प्राप्त हुई, इसके अतिरिक्त प्रयाग में चल रहे कुंभ का फोकस प्रियंका गांधी पर आ गया।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से लेकर पार्टी के सभी महासचिव, सचिव, नेताओं में ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, कि हमारी पार्टी में कोई भी निर्णय इस बात के लिए नहीं होता, कि एक व्यक्ति या एक परिवार क्या चाहता है ? जबकि देश में ज्यादातर केस में कहा जाता है, कि परिवार ही पार्टी है।

Advertisement