हिंदी भाषा को लेकर रजनी कांत ने दिया बड़ा बयान, कहा – कोई भी दक्षिणी राज्य हिंदी को थोपना स्वीकार नहीं करेगा

देश के गृह मंत्री अमित शाह के एक देश, एक भाषा के बयान से सियासी दंगल जोरो से छिड़ चुका है, उन्होंने कहा कि हमारे पास एक ऐसी भाषा होनी चाहिए जो विश्व पटल पर अंग्रेजी को परास्त कर सके, इसलिए हमें प्रयास करना चाहिए कि अधिक से अधिक हिंदी भाषा का प्रयोग करें|

ये भी पढ़े: हिंदी दिवस कब मनाया जाता है, जानिए इसका इतिहास और दिलचस्प बातें  

मगर गृह मंत्री जी के इस बयान ने राजनीति में उथल-पुथल मचा दिया| विपक्ष ने तथा कुछ फिल्म स्टार्स ने भी इसका विरोध किया है| इसी कड़ी में एक बड़ा नाम सामने आया है| दक्षिण भारत के फिल्म स्टार रजनीकांत ने भी इसपर कड़ा विरोध जताया है|

इस पर रजनीकांत ने कड़ी निंदा करते हुए कहा, कि हिंदी को थोपा नहीं जाना चाहिए, सिर्फ तमिलनाडु ही नहीं बल्कि कोई भी दक्षिणी राज्य हिंदी को थोपना स्वीकार नहीं करेगा। हिंदी ही नहीं, कोई भी भाषा लागू नहीं होनी चाहिए, यदि देश की एकता के लिए एक सामान्य भाषा है, तो यह अच्छा है|

ये भी पढ़े: किसी भी भाषा को हिंदी में करे ट्रांसलेट, ये मोबाइल एप आएंगे काम