क्या RBI दे रहा है, सस्ते होम लोन का तोहफा, RBI का बड़ा फैसला

वित्तमंत्री के पेश किये गए बजट के बाद अब सभी लोगों की नजर सस्ते होम लोन के ब्याज पर है, क्योंकि कयास लगाए जा रहें हैं कि, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया दो दिनों की बैठक के बाद ब्याज दरों का ऐलान किसी भी समय कर सकती है।  अब लोग मौद्रिक समीक्षा की बैठक के बाद बहुत ही बेसब्री से आखिरी दिन ब्याज दरों के ऐलान का इंतजार कर रहें हैं। इसके अलावा इन ब्याज दरों को लेकर कुछ अर्थशास्त्री संकेत देते हुए बता रहें हैं कि, ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा । वहीं जानकारी देते हुए बता दें कि,  इस समय  देश की जीडीपी 6 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है।  

2020 के बाद मालदीव को बजट का 15 फीसद सिर्फ चीन का कर्ज चुकाने में देना होगा

इसके साथ ही दिसंबर महीने में खुदरा (रिटेल) महंगाई की दर बढ़कर 7.35% हो गई थी। इसलिए  मौद्रिक नीति बनाते समय आरबीआई खुदरा महंगाई पर विशेष ध्यान देता है, क्योंकि आरबीआई खुदरा महंगाई दर 4 फीसदी पर ही रखना चाहता है | वहीं दिसंबर में ये 6 फीसदी की अधिकतम रेंज  के मुताबिक़ बहुत ज्यादा हो गई थी, जिसकी वजह से आरबीआई ने रेपो रेट में  किसी भी प्रकार का परिवर्तन नहीं किया |

इसके अलावा आईएचएस मार्किट द्वारा संकलित निक्केई मैन्युफैक्चरिंग परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स के मुताबिक, जनवरी साल 2020   में देश में विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियों में सुधार किया गया है और साथ ही में मासिक सर्वेक्षण आईएचएस मार्किट के अनुसार, मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई इंडेक्स (मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई) का अंक जनवरी में 55.3  तक पहुंच गया है। यह आंकड़ा साल 2012 से 2020 की अवधि में सबसे ऊंचे स्तर  पर पहुंच चुका है, जिससे मोदी सरकार को कुछ राहत मिली है | 

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दस्तक पर आयुष मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरी, ऐसे करे बचाव