पढ़ाई हो या नौकरी विदेश जाने वाले सभी लोगों का होगा अनिवार्य रजिस्ट्रेशन का रखा गया प्रस्ताव

0
89

विदेश में पढ़ाई और नौकरी करने के इच्छुक भारतीयों को जल्द ही देश छोड़ने से पहले सरकार के पास रजिस्ट्रेशन कराना पड़ सकता है। यह प्रस्ताव एमिग्रेशन बिल 2019 के ड्राफ्ट में रखा गया है। फीडबैक की प्रक्रिया पूरी होने के बाद विदेश मंत्रालय द्वारा इस बिल को संसद में पेश किया जायेगा । इस ड्राफ्ट को लेकर पब्लिक से फीडबैक लिया जाएगा ।

Advertisement

आधिकारिक सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, यह ड्राफ्ट 9 जनवरी को सार्वजनिक हुआ है | लोगों के फीडबैक के अनुसार, इसमें कुछ बदलाव किए जा सकते हैं। अधिकारियों का कहना है, कि यह प्रक्रिया छात्रों के लिए ज्यादा जटिल नहीं होगी, क्योंकि इसका रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन किया जाएगा और छात्र कुछ आसान स्टेप्स के माध्यम से अपना रजिस्ट्रेशन आसानी से करा सकेंगे |

बिल के ड्राफ्ट के मुताबिक, पढ़ाई या नौकरी के लिए विदेश जाने वाले सभी लोगों कोरजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा। यह प्रक्रिया ऑनलाइन प्लैटफॉर्म पर कराई जायेगी क्योंकि, इससे देश को छोड़कर विदेश जाने वाले लोगों को अधिक कठिनाइयों का सामना न करना पड़े | सरकार ने यह जानकारी दी है, यह प्रक्रिया इसलिए लागू की गई है, ताकि अगर हमारे देश का कोई भी नागरिक दूसरे देश में कठिनाई का सामना कर रहा है, तो उन्हें आसानी से मदद मिल सके, इसके अतिरिक्त इस बिल में भर्ती करने वाली एजेंसियों और एजेंट्स का रजिस्ट्रेशन कराने का भी प्रस्ताव रखा गया है |

इससे पहले भारत ने इराक, जॉर्डन, लीबिया, मलेशिया, यूएई, अफगानिस्तान, बहरेन, इंडोनेशिया,  ओमान, कतर, साऊदी अरब, सुडान, साउथ सुडान, सीरिया, कुवैत, लेबनॉन, थाइलैंड और यमन आदि देशों के लोगों के लिए भी रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य कर दिया था |

Advertisement