आतंकी मसूद अजहर पर लग सकता है ग्लोबल बैन, 1 मई को मामले को यूएन में सुना जाएगा

0
248

पुलवामा सहित अनेको आतंकी हमलों के दोषी मसूद अजहर अब वैश्विक आतंकी घोषित होनें की संभावना है, क्योंकि चीन संयुक्त राष्ट्र समिति में एक मई को अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में लगाई गई तकनीकी रोक हटा लेगा। अब इस जैश सरगना को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किये जाने के प्रकरण में चीन का रुख सामनें आया है|

Advertisement

ये भी पढ़े: ‘मिशन महाशक्ति’ का सैटलाइट को मार गिराने वाली मिसाइल का विडियो हुआ जारी   

जैश सरगना मसूद अज़हर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में चीन रोड़ा बन गया था, परन्तु भारत में पुलवामा हमले के बाद अजहर को आतंकी घोषित करने के लिए फ्रांस यूएन में प्रस्ताव लाया था | जिसका समर्थन ब्रिटेन और अमेरिका ने किया, परन्तु चीन ने मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर वीटो लगा दिया, जिससे यह प्रस्ताव रद्द हो गया था | चीन की इस हरकत से चीन की आलोचना पूरी दुनिया में हुई| 

आपको बता दे, कि जैश सरगना मसूद अज़हर मामले को 1 मई को यूएन में सुना जाएगा| अब ऐसा लग रहा है, इस प्रकरण मे  चीन के दिल में परिवर्तन की वजह से उसके रुख में नरमी आई है| जिसकी वजह से यह अनुमान लगाया जा रहा है, कि अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किए जाने की कोशिशों में चीन मददगार बनेगा, यदि ऐसा होता है, तो भारत के लिए एक बड़ी सफलता होगी। 

मीडिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार, कि चीन चाहता है, कि वह 15 मई के आसपास मसूद अजहर पर टेक्निकल होल्ड को हटा ले, परन्तु अमेरिकी प्रशासन ने स्पष्ट किया है, कि इस सम्बन्ध में चीन को पुख्ता कदम उठाने होंगे, क्योंकि अभी तक काफी समय व्यर्थ हो चुका है| चीन ने 13 मार्च को 1267 अल कायदा प्रतिबंध समिति में अमेरिका, ब्रिटेन से समर्थित फ्रांस के एक प्रस्ताव को यह कहकर बाधित कर दिया था, कि उसे मामले के अध्ययन के लिए और समय चाहिए।

ये भी पढ़े: UNSC में चीन ने मसूद का ‘वैश्विक आतंकी’ घोषित करने में लगाया अड़ंगा   

Advertisement