सावन का पहला सोमवार व्रत 22 जुलाई को, जानिए इसकी पूजा विधि और महत्व

Sawan 2019: हिन्दू धर्म में सावन के सोमवार व्रत का अत्यंत महत्व होता है। सावन के समोवार में अधिकतर लोग व्रत रखते हैं और पूरे विध-विधान से भगवान शिव की पूजा करते हैं| इस बार श्रावण मास का पहला सोमवार 22 जुलाई को पड़ रहा है, इस दिन व्रत करने से संतान सुख, धन, निरोगी काया और मनोवांछित जीवन साथी मिलता है, साथ ही दाम्पत्य जीवन के दोष और अकाल मृत्यु जैसे संकट भी नहीं आते हैं|

इसे भी पढ़े: कावड़ यात्रा 2019 : आज से शुरू, जाने क्या है कावड़ यात्रा के नियम

सावन के चार सोमवार 

 इस बार सावन में चार सोमवार पड़ रहे हैं, सावन में चार सोमवार पड़ने से इस बार के सोमवार काफी शुभ माने जा रहें  है।  

कुछ विशेष जानकारी 

 22 जुलाई: सावन का पहला सोमवार

29 जुलाई: सावन का दूसरा सोमवार

05 अगस्त: सावन का तीसरा सोमवार

12 अगस्त: सावन का चौथा सोमवार

सोमवार व्रत एवं पूजा विधि

सोमवार व्रत वाले दिन सूर्योदय से पहले  उठकर सबसे पहले घर की साफ-सफाई करनी चाहिए इसके बाद स्नान करके साफ कपड़े पहनेकर पूरे विध-विधान से पूजा करें| पूजन में सबसे पहले भगवान शिव की मूर्ति, तस्वीर या शिवलिंग को गंगा जल से धोकर साफ कर लें। फिर तांबे के लोटे या अन्य पात्र में जल भरकर उसमें गंगा जल मिलाकर भोलेनाथ का जलाभिषेक करें और उनको सफेद फूल, अक्षत्, भांग, धतूरा, सफेद चंदन, गाय का दूध, धूप आदि अर्पित करना चाहिए|

इसके पश्चात ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करना चाहिए, फिर शिव चालीसा का पाठ करें और अंत में आरती करते हुए पूजा का समापन करना चाहिए| 

इसे भी पढ़े: पूजा-पाठ / अगर भगवान को फूल चढ़ाए हो और वो मुरझा जाए तब क्या करना चाहिए आप भी जान लीजिये