पूजा-पाठ / अगर भगवान को फूल चढ़ाए हो और वो मुरझा जाए तब क्या करना चाहिए आप भी जान लीजिये

दुनिया में पूजा -पाठ लगभग सभी लोग करते है| वहीं बहुत से लोग ऐसे हैं, जो पूरे विधि-विधान के साथ पूजा-पाठ करते हैं| भगवान की पूजा करने के समय हर कोई भगवान की मूर्तियों पर हार-फूल चढ़ाते है, इसलिये आप जान लीजिये कि, यदि आप भगवान को फूल चढ़ाएं और वो मुरझा जाते जाते है, तो इसके लिए आपको क्या करना चाहिए?

इसे भी पढ़े: Rath Yatra 2019: तो इस कारण से जगन्नाथ भगवान के आंखों पर बांधी जाती है पट्टी | Reason Behind The Tie Cloth Piece On The Eyes Of Lord Jagnaath

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा ने बताया है कि, भगवान को फूल चढ़ाने से भक्त की मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। इसी मान्यता की वजह से सभी लोग अपने घर के मंदिर में भी ये पुण्य कर्म जरूर करते हैं। दो-तीन बाद हार-फूल मुरझा जाते हैं। ऐसी स्थिति में कुछ मुरझाए हुए फूल नदी या तालाब में प्रवाहित कर देते हैं, जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। नदी-तालाब में खराब फूल डालने से पानी गंदा होता है।

पं. शर्मा के मुताबिक़, भगवान को चढ़ाए हुए हार-फूल जब मुरझा जाए, तो उन्हें मंदिर से हटाकर अपने माथे से लगाएं और फिर घर के आंगन में तुलसी के पौधे में या किसी अन्य बाग में या किसी मंदिर के पेड़-पौधों की जड़ों में डाल देना चाहिए।  इसके अलावा मुरझाने के बाद हार-फूल ऐसी जगह पर डालना चाहिए, जहां इनका अपमान न हो और किसी के पैर इन पर पड़े।  

भगवान को जो भी चीजे चढ़ाई जाती हैं, वे सभी वस्तुएं पवित्र होती हैं और किसी भी प्रकार इनका अपमान नहीं करना चाहिए, क्योंकि इस तरह करने से पूजा-पाठ से शुभ फल प्राप्त नहीं होता हैं।  

इसे भी पढ़े: Rath Yatra 2019: गुरुवार को भगवान जगन्नाथ की होने वाली ‘रथ-यात्रा’ के बारे में जानिए प्रमुख बाते