पाकिस्तान और चीन को अल्पसंख्यकों के साथ भेदभाव करने के लिए UN ने लगाई फटकार

केंद्र सरकार द्वारा जम्मू- कश्मीर अनुच्छेद 370  खत्म करने वाले मामले पर UN  ने  पाकिस्तान और चीन को फटकार लगाई  है। इसके बाद इन दोनों को बड़ा झटका लगा है | वहीं अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम और कनाडा ने संयुक्त राष्ट्र में धार्मिक अल्पसंख्यकों की सुरक्षा को लेकर बैठक आयोजित की गई जिसमें  पाकिस्तान और चीन को अल्पसंख्यकों के साथ भेदभाव करने के लिए जोरदार फटकार लगाई है। 

इसे भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने NSA अजित डोभाल और IB चीफ से की मुलाकात

संयुक्त राष्ट्र में अल्पसंख्यकों पर चर्चा के दौरान लॉर्ड अहमद (धार्मिक स्वतंत्रता पर यूके के पीएम के विशेष प्रतिनिधि) ने कहा कि, ब्रिटेन ने पूरी दुनिया के धार्मिक तबकों और अल्पसंख्यकों के लिए आवाज उठाई है। चाहे वे चीन में उइगुर हों या पाकिस्तान में क्रिश्चियन और अहमदी।”

वहीं अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए अमेरिकी राजदूत सैम ब्राउनबैक ने कहा कि, हम चीन सरकार द्वारा धार्मिक स्वतंत्रता पर लगाए जा रहे प्रतिबंधों को लेकर काफी चिंतित है। इसी के साथ कहा कि, हम चीनी सरकार से आग्रह करते है कि, वह राष्ट्र में सभी के मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रता का सम्मान करें।’ सैम ब्राउनबैक ने आगे कहा कि, पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यक या तो गैर-राज्य तत्वों के हाथों अभियोजन से या भेदभावपूर्ण कानूनों और प्रथाओं के माध्यम से पीड़ित होते रहते हैं।’

संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार फ़ोकस पाकिस्तान के अध्यक्ष नावेद वाल्टर ने कहा कि, आज बड़ी संख्या में लोग अपने समाजों में हाशिए पर हैं। अल्पसंख्यकों के साथ पक्षपाती व्यवहार अन्य क्षेत्रों में भी किया जाता है।’

इसे भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर पर SC का जल्द सुनवाई से इनकार, अगली सुनवाई दो हफ्ते बाद