संजीता चानू पर लगे प्रतिबंध को अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग संघ ने हटाने का फैसला लिया

0
91

बुधवार को अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग महासंघ (आईडब्ल्यूएफ) ने राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक विजेता भारतीय भारोत्तोलक संजीता चानू को बड़ी राहत दी है| अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग महासंघ द्वारा भारतीय महिला वेटलिफ्टर संजीता चानू पर लगे अल्पकालिक प्रतिंबध को हटा लिया गया है।

Advertisement

आईडब्ल्यूएफ ने संजीता और भारतीय भारोत्तोलन महासंघ (आईडब्ल्यूएलएफ) को अपने किये गए इस निर्णय की जानकारी दे दी है। वेटलिफ्टर संजीता चानू 2014 और 2018 कॉमनवेल्थ के खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम कर चुकी है।

आईडब्ल्यूएफ की वकील एवा निरफा ने एक पत्र में यह बताया कि, “मिली जानकारियों के आधार पर महासंघ ने यह निर्णय लिया है कि संजीता पर लगे प्रतिंबध को तत्काल प्रभाव से हटाया जा रहा है। इस मामले पर सुनवाई करने वाली महासंघ की कमेटी अपना निर्णय पेश करेगी |”

प्रतिबन्ध का कारण

वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 17 नवंबर को 2017 को संजीता के यूरिन का सैंपल लिया गया था। जिसमें एनाबोलिक स्टेरॉयड टेस्टोस्टरोन पॉजिटिव पाया गया था। उसके बाद ही पिछले साल मई महीने में अल्पकालिक प्रतिबंध लगाया था।

संजीता को प्राप्त ईमेल में क्या कहा गया

आईडब्ल्यूएफ की वकील ने संजीता और भारतीय भारोत्तोलन महासंघ को भेजे ईमेल में कहा कि ,”हम तक मिली जानकारी के आधार पर आईडब्ल्यूएफ ने फैसला किया है, कि  संजीता पर लगाया गया अस्थायी निलंबन 22 जनवरी 2019 को हटा लिया जाए, इसमें कहा गया, ‘आईडब्ल्यूएफ सुनवाई पैनल आने वाले समय में इस पर फैसला लेगी.”

प्रतिबंध हटने के बाद संजीता ने क्या कहा प्रतिबंध हटने के बाद संजीता ने कहा कि , “मैं बहुत राहत महसूस कर रही हूं, मेरी बेगुनाही साबित हो गई। मुझे अंतरराष्ट्रीय महासंघ का ईमेल मिला है। हमारे राष्ट्रीय महासंघ ने भी सुबह फोन पर इसकी जानकारी दी।”

Advertisement