Ayurveda कहता है अगर डायट में शामिल करेंगे ये चीजें तो नहीं पड़ेंगी दवाओं की जरुरत

आजकल दुनिया में हर किसी को कोई न कोई समस्या अक्सर बनी ही रहती है| आयुर्वेद किसी भी इंसान के शरीर के दोष के बारे में बात करता है। ये दोष (एनर्जी) तीन प्रकार के होते हैं, जैसे – वात, पित्त और कफ। वात का अर्थ होता है, हवा और यह आकाश को रिप्रजेंट करने का काम करता है। पित्त का अर्थ होता है, आग और पानी को और कफ पृथ्वी और जल की एनर्जी को प्रदर्शित करने का काम करता है। सभी लोगों के अंदर यह एनर्जी के रूप में पाया जाता हैं। 

इसे भी पढ़े: लिवर को लंबे समय तक ठीक रखने के लिए इन आदतों पर दें ध्यान

वहीं आयुर्वेद कहता है कि , हर किसी में किसी एक प्रकार का दोष प्रभावी होता है, बाकी दो संतुलित रहते हैं। आयुर्वेद एक सिंपल सिद्धांत पर काम करता है कि, अगर आपकी डायट में किसी प्रकार समस्या है, तो कोई दवा असर नहीं कर सकती। अगर डायट सही है, तो आपको दवा की आवश्यकता बिलकुल भी नहीं होगी। इसलिए  आयर्वेद कहता है कि, अगर डायट में ये चीजें शामिल करेंगे तो आपको दवाओं की जरूरत नहीं पड़ेगी|

डायट में घी करे शामिल  

आयुर्वेद में घी को शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए सबसे अच्छा स्रोत माना गया है। यह मक्खन की अपेक्षा खाना पचाने में मदद करता है। इसके साथ ही यह टॉक्सिन्स को भी शरीर से बाहर निकालता है, इसलिए इसे अपनी डायट में जरूर शामिल करें|

इसे भी पढ़े:  Health Tips : आलू ही नहीं इसके छिलके में भी छिपे हैं सेहत के कई राज

गुनगुना पानी

आयुर्वेद में बताया गया है कि गुनगुना पानी पीने से भी काफी आराम मिलता है| यह शरीर से हानिकारक पदार्थ बाहर निकालने के साथ-साथ स्किन में ग्लो भी लाता है। हर घंटे पर सादा गुनगुना पानी पीने से आपके शरीर में पानी की कमी नहीं रहेगी और मेटाबॉलिजम सही रहेगा|

गर्म दूध का इस्तेमाल

आप अपने डायट में ठन्डे ठंडे दूध की जगह गर्म दूध का इस्तेमाल करें, क्योंकि इसे पचाना आसान होता है। यदि रोजाना आप गर्म दूध का सेवन करे, तो यह शरीर को नियंत्रित रखने में मददगार साबित होता है|

जीरे का भी करे इस्तेमाल

आयुर्वेद में बताया गया है कि, अपने डायट में जीरे का भी इस्तेमाल करना चाहिए| इसलिए बता दें, कि अपनी डायट में जीरे को दो तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं। पहला तो आप रात में जीरे को पानी में भिगोकर रख दें, इसके बाद  सुबह सबसे पहले इसका पानी पिए| इसके अलावा आप जीरे के पानी को उबाल लें और इसमें एक चुटकी जीरा डालकर आप उस पानी का सेवन करें| ऐसा करने से आपका डायजेस्टिव सिस्टम बिलकुल सही बना रहता है|

इसे भी पढ़े: नाभि पर ऑयल मसाज करके मिल सकता है इन समस्याओं से छुटकारा, आप भी जानें