Kajari Teej 2019: जानिए कब मनाई जाएगी कजरी तीज, इसकी पूजा विधि और महत्व

Kajari Teej 2019: रक्षाबंधन के तीसरे दिन पड़ने वाली कजरी तीज या कजली तीज इस साल रविवार 18 अगस्त को पड़ रही है। यह हिन्दू कैलेंडर के मुताबिक, भाद्रपद या भादो मास के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाएगी| यह कजरी तीज हरियाली तीज के लगभग 15 दिनों के बाद पड़ती हैं| 

इसे भी पढ़े: वरलक्ष्मी व्रत 2019: माता लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा से प्राप्त होता है विशेष लाभ, पूजा विधि और महत्व

तीज चार प्रकार की होती है 

हिन्दू धर्म में चार प्रकार की तीज मनाई जाती है, जिसमें अखा तीज, हरियाली तीज, कजरी और हर‍िताल‍िका तीज शाम‍िल है। कजरी तीज का त्यौहा उत्तर भारत के राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, मध्यप्रदेश, पंजाब में मनाया जाता है|

कजरी तीज का महत्व और पूजा विधि 

कजरी तीज वाले दिन महिलाएं निर्जला व्रत रखकर भगवान शिव और माता पार्वती की पूरी श्रध्दा के साथ पूजा करती हैं, जिससे उनको अखंड सुहाग का आशीर्वाद मिलता है। आमतौर पर विवाहित स्त्रियां ही इस व्रत को रखती हैं, और वहीं कुंवारी कन्याएं अपने मनचाहे वर पाने के लिए इस व्रत को रखती हैं|

इस दिन महिलाएं श्रृंगार करती हैं, नए कपड़े पहनती हैं और हाथों में मेंहदी लगाती हैं| पूजा के दौरान वे माता पार्वती को सुहाग का सारा सामान चढाती हैं|    

इसे भी पढ़े: पूजा-पाठ / अगर भगवान को फूल चढ़ाए हो और वो मुरझा जाए तब क्या करना चाहिए आप भी जान लीजिये