चीन ने नेशनल डे की 70वीं वर्षगांठ का मनाया जश्न, हाइपरसोनिक मिसाइलों समेत आधुनिक हथियारों का किया प्रदर्शन

आज मंगलवार 1 अक्टूबर को चीन ने नेशनल डे की 70वीं वर्षगांठ का जश्न मनाया जा रहा है| इस मौके पर बढ़ती राजनीतिक और आर्थिक चुनौतियों के बीच एक भव्य परेड का आयोजन किया गया| जिसमें उसने परमाणु और हाइपरसोनिक मिसाइलों के साथ-साथ अपने सबसे आधुनिक हथियारों का भी प्रदर्शन किया है| इसमें DF-41 भी शामिल की गई थी, यह मिशाइल दुनिया की उन मिसाइलों में शामिल है, जो सबसे अधिक मारक की क्षमता रखने में सक्षम हो सकती है| ये एक ऐसी मिसाइल है, जो कुछ ही मिनटों में चीन से यूएस पहुंचें में सफल हो सकती है|

इसे भी पढ़े: लद्दाख बॉर्डर पर भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुई भिड़ंत, दोनों तरफ बढ़ाई गई सैनिकों की संख्या

सोमवार 30 सितंबर से ही वर्षगांठ के आधिकारिक समारोह की शुरुआत हो गई थी, जब चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के संस्थापक माओ जेडोंग की संरक्षित रखी गई पार्थिव देह को श्रद्धांजलि अर्पित की|

शी और अन्य शीर्ष चीनी अधिकारी यहां तियाननमेन चौक में स्थित माओ की समाधि पर पहुंचकर दिवंगत नेता की प्रतिमा के आगे तीन बार सिर को झुकाया है| 

70वीं वर्षगांठ मनाने के इस मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए शी (66) ने पिछले 70 वर्ष में चीन के लोगों की उपलब्धियों की प्रशंसा की और कहा कि, हजारों वर्षों तक चीन को अपनी गिरफ्त में रखने वाली समस्या गरीबी अब खत्म होने की कगार पर है|’

उन्होंने कहा, ‘‘ चीन ने जबरदस्त बदलाव किया| वह डटा हुआ है, समृद्ध हो रहा है और मजबूत बन रहा है| वह कायाकल्प के उत्कृष्ट आयामों के साथ कदम से कदम मिला रहा है|”

शी ने कहा कि सभी जोखिमों तथा चुनौतियों से निपटते हुए आगे बढ़ने तथा नयी सफलताएं हासिल करने के लिए एकता सबसे महत्वपूर्ण है|

चीनी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘पिछले 70 वर्षों में बड़ी उपलब्धियां हासिल करने वाले चीनी लोग और चीनी राष्ट्र निश्चित तौर पर दो सदियों के लक्ष्यों और राष्ट्रीय कायाकल्प के चीनी सपने को साकार करने की अपनी यात्रा तक पहुंचने में और अधिक खूबसूरत अध्याय जोड़ेंगे|”

इसे भी पढ़े: पाकिस्तान और चीन को अल्पसंख्यकों के साथ भेदभाव करने के लिए UN ने लगाई फटकार