चुनाव प्रचार करने में नहीं दिया गया महत्व तो जेडीयू के इस नेता ने विधायक पद छोड़ा – जानिए कौन हैं

0
292

चुनाव प्रचार को लेकर बिहार में एक ताजा मामला प्रकाश में आया है | यह मामला बिहार राज्य में दरभंगा जिले के अंतर्गत हायाघाट विधानसभा है | यहाँ से जेडीयू के विधायक अमरनाथ गामी है | चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी ने उनकी उपेक्षा की जिस कारण मंगलवार को बिहार विधान सभा की सदस्यता से उन्होंने इस्तीफा दे दिया है | विधायक अमरनाथ गामी दो बार से विधायक है | उन्होंने कहा कि “समस्तीपुर या दरभंगा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में मेरा उपयोग नहीं किए जाने का उन्हें गहरा दुख है इसलिए उन्होंने विधानसभा से इस्तीफा देने का फैसला किया है। उन्होंने कहा ‘मैंने अपना त्याग-पत्र अपने पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार को भेज दिया है ” |

Advertisement

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव: मोदी जी पर लगे 72 साल का बैन लगने की बात, अखिलेश

इसके बाद उन्होंने कहा “मैं गठबंधन में खलल नहीं डालना चाहता था। मैं चाहता था कि नरेंद्र मोदीजी देश और बिहार के विकास के लिए सरकार में लौटें इसलिए मैंने समस्तीपुर और दरभंगा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होने तक खामोश रहने का निर्णय लिया था” |

फिर जेडीयू विधायक अमरनाथ गामी ने कहा कि “चूंकि उन्हें हायाघाट के अपने लोगों के सामने यह स्पष्टीकरण देना पड़ता कि चुनाव प्रचार के दौरान वह क्यों सक्रिय नहीं दिखे इसलिए उन्होंने मतदान के बाद अपने मन की बात कहने का फैसला किया है” |

इसके बाद जेडीयू विधायक अमरनाथ गामी ने कहा “उनकी सेवाओं का न तो समस्तीपुर में और न ही दरभंगा में उपयोग किया गया। इस तथ्य के बावजूद कि हायाघाट और दरभंगा दोनों शहरों में उनकी बेहतर पकड़ है। फिर उन्होंने कहा “मैंने अपने नेता नीतीश जी को चुनाव प्रचार के दौरान खुद को दरकिनार किए जाने की जानकारी दी थी लेकिन गठबंधन के धर्म का पालन करने के लिए उन्होंने चुप रहना ही उचित समझा क्योंकि दोनों सीटें एनडीए के घटक दलों की थीं और जेडीयू की नहीं थीं” |

ये भी पढ़ें: तेज बहादुर को चुनाव आयोग द्वारा दिए गये नोटिस में क्या है

Advertisement