कोरोना वायरस : यूपी के इन चार जिलों में सरकारी और निजी संस्थानों में 50 फीसदी कर्मचारियों को ही बुलाने का आदेश

0
234

यूपी में कोरोना वायरस के संक्रमण ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने केसों की बढ़ती रफ़्तार को देखते हुए गुरुवार को मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा, वाराणसी, कानपुर, प्रयागराज और बरेली जिलों में नाईट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है । उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 6,023 नए संक्रमित मामले सामने आए थे। इसी बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि सरकारी और निजी प्रतिष्ठानों में एक दिन में 50 प्रतिशत कर्मी ही आएं।

Advertisement

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से शुक्रवार को ट्वीट कर बताया गया है, ‘यह व्यवस्था बनाई जाए जिसके तहत जनपद लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी तथा कानपुर नगर के सरकारी व निजी प्रतिष्ठानों में एक दिन में 50 प्रतिशत कर्मचारी ही आएं। इस विषय में रोस्टर बनाकर उसे लागू करें । चिकित्सकों, पैरा मेडिकल एवं नर्सिंग स्टाफ तथा पुलिस बल को संक्रमण से बचाने के लिए विशेष ध्यान दिया जाए।’

आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही पर कोई रोक नहीं है

जिलाधिकारी ने आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही को नाइट कर्फ्यू के प्रतिबंध से बाहर रखा है। दवा, सब्जी, फल, दूध, रसोई गैस और समाचार पत्रों समेत सभी आवश्यक वस्तुओं का परिवहन पहले जैसे ही चलता रहेगा। आवश्यक सेवाओं के कर्मचारियों को आने-जाने पर प्रतिबंध नहीं रहेगा।

यूपी में होगा 11 से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव

प्रशासन ने जनता से की अपील

प्रशासन ने जनता से सार्वजनिक जगहों पर कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए अपील की है। नोएडा औऱ गाजियाबाद में कोचिंग सेंटरों सहित सभी सरकारी और निजी शिक्षण संस्थानों (मेडिकल, पैरामेडिकल और नर्सिंग कॉलेजों को छोड़कर) में 17 अप्रैल तक फिजिकल कक्षाएं लेने पर प्रतिबंध लगा दी गई है।

आज से लग जायेगा लखनऊ, वाराणसी और कानपुर में नाइट कर्फ्यू

Advertisement