पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को सीबीआई ने किया गिरफ्तार, आज कोर्ट में किया जाएगा पेश

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को बुधवार 21 अगस्त को जोर बाग स्थित उनके आवास से गिफ्त्तर कर लिया है| चिदंबरम को उनके आवास पर गिरफ्तार करने के बाद राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जा गया, जहां उनकी मेडिकल जांच कराई गयी| इसके पश्चात चिदंबरम को सीबीआई मुख्यालय के भूतल पर एजेंसी के अतिथि गृह के सुइट नंबर 5 में रात भर रखा गया|

इसे भी पढ़े: INX मामला: पी चिदंबरम को मिला कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का समर्थन, कहा- मैं उनके साथ खड़ी हूं

जानिए अब तक क्या-क्या हुआ ?

1.गुरुवार 22 अगस्त को चिदंबरम को विशेष सीबीआई अदालत में पेश किया जाएगा| इसके बाद ही एजेंसी उनकी रिमांड के लिए अपील करेगी| 

2.चिदंबरम बुधवार 21 अगस्त की शाम अचानक कांग्रेस मुख्यालय पहुंच गए थे, वहां पहुंचने के बाद उन्होंने रात सवा आठ बजे मीडिया को संबोधित करते हुए दावा किया है कि, वह कानून से भाग नहीं रहे हैं एवं उनके खिलाफ लगाए गए आरोप झूठे हैं| इस दौरान उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद और अभिषेक मनु सिंघवी भी उपस्थित थे|

3.वहीं एजेंसियों द्वारा पूर्व वित्त मंत्री के घर पर पहुंचने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए चिदंबरम के पुत्र एवं सांसद कार्ति ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘एजेंसियों द्वारा किया जा रहा ड्रामा और तमाशा महज सनसनी फैलाने और कुछ तमाशाबीनों के फायदे के लिए है|’

4.बुधवार 21 अगस्त को चिदंबरम की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए आरोप लगाया है कि, इस सरकार में लोकतंत्र खत्म हो गया है| वहीं पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट करते हुए कहा, ”मोदी सरकार की ओर से शर्मनाक ढंग से सीबीआई/ईडी का दुरुपयोग किया जा रहा है| यह भारत की हर टीवी स्क्रीन पर दिख रहा है|” उन्होंने दावा किया, ” यह शर्म का विषय है कि भाजपा के हाथों में लोकतंत्र खत्म हो गया है|” 

5.सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक लगाने की चिदंबरम की याचिका पर शुक्रवार को ही सुनवाई करने का फैसला किया| इसके बाद सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व वित्त तथा गृह मंत्री को गिरफ्तार करने के लिए राहत मिल गई| 

6.इससे पहले चिदंबरम को देश छोड़कर रोका जा सके इसके लिए सीबीआई और ईडी ने  चिदंबरम के खिलाफ लुक आउट परिपत्र जारी कर दिया था|

7.सीबीआई अधिकारी मंगलवार को चिदंबरम के दिल्ली स्थित आवास उन्हें गिरफ़्तार कर लिया है| 

8.सीबीआई के इस नोटिस के जवाब में चिदंबरम की कानूनी टीम ने कहा कि, नोटिस में कानून के उन प्रावधानों का जिक्र नहीं किया गया है जिनके तहत उन्हें तलब किया गया |  

9.चिदंबरम ने गिरफ्तार से पहले कांग्रेस मुख्यालय के मीडिया हॉल में मीडिया से कहा था, ‘मेरा मानना है कि लोकतंत्र की बुनियाद स्वतंत्रता है| संविधान का सबसे अहम अनुच्छेद 21 है, जो जीवन और स्वतंत्रता की गारंटी देता है| अगर इनमें से एक को चुनने का विकल्प हो तो मैं बेहिचक स्वतंत्रता का चुनाव करूंगा|’

इसे भी पढ़े: इंद्राणी मुखर्जी का सरकारी गवाह बनने से बढ़ी चिदंबरम की मुश्किलें, जानिए क्या है पूरा मामला