G20 summit 2019 : जापान में पीएम मोदी ने भरी हुंकार, कहा – जापान में मैंने भारत के प्रति प्यार अनुभव किया है

0
45

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी G20 Summit (शिखर सम्मेलन) 2019 में भाग लेने के लिए जापान गए हुए है| जापान में प्रधानमंत्री शिंजो एबी ने भारतीय प्रधानमंत्री का बड़ी ही गर्मजोशी से स्वागत किया, साथ ही शिंजो एबी ने मोदी को चुनाव में जीत दर्ज करने की बधाई भी दी है| जिसके जवाब में नरेंद्र मोदी ने धन्यवाद देते हुए कहा, कि अबकी बार भारतीयों ने पहले से भी मजबूत सरकार बनाई है| इसके बाद दोनों दिग्गज नेताओं ने मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेलवे की प्रगति पर भी चर्चा की|

Advertisement

ये भी पढ़े: Modi Meet with Donald Trump | अमेरिका राष्ट्रपति ने Tweet कर कहा भारत का टैरिफ में इजाफा ठीक नही है

जापान में किया भारतीय समुदाय को संबोधित

जापान में प्रधान मंत्री मोदी ने भारतीय समुदाय को संबोधित किया, उन्होंने कहा कि ‘ सात महीने बाद एक बार फिर मुझे जापान की धरती में आने का मौका मिला है। पिछली बार जब मैं आया था, तब मेरे मित्र शिंजो आबे पर भरोसा कर आपने उन्हें जिताया था। इस बार जब मैं आया हूं, तब दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र ने इस प्रधान सेवक पर पहले से ज्यादा विश्वास जताया है।

1971 के बाद देश ने पहली बार एक सरकार को प्रो-इन्कम्बेंसी जनादेश दिया है। यह जीत सच्चाई की जीत है, भारत के लोकतंत्र की जीत है। 130 करोड़ भारतीयों ने पहले से भी मजबूत सरकार बनाई है। यह बहुत बड़ी घटना है,  तीन दशक बाद पहली बार लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई है |’

महात्मा गाँधी के तीन बंदरों को जापान से जोड़ा

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गाँधी के तीन बंदरों के सन्देश को जापान से जोड़ते हुए कहा कि ‘महात्मा गाँधी ने ‘बुरा मत देखो, बुरा मत सुनो, बुरा मत बोलो’ का संदेश दिया है उनका संबंध जापान से है। जब दुनिया के साथ भारत के रिश्तों की बात आती है तो जापान का उसमें एक अहम स्थान है। ये रिश्ते आज के नहीं हैं, बल्कि सदियों के हैं। इनके मूल में आत्मीयता है, सद्भावना है, एक दूसरे की संस्कृति और सभ्यता के लिए सम्मान है। जापान के पीएम आबे के साथ मैं यहां के कई शहरों की यात्रा कर चुका हूं। पिछले साल उन्होंने यामानाशी में स्थित अपने घर में मुझे आमंत्रित किया था। पीएम आबे भी मेरे संसदीय क्षेत्र वाराणसी आ चुके हैं |

भारत और जापान के रिश्ते को मजबूत किया

इसके बाद उन्होंने कहा कि ‘2014 में पीएम बनने के बाद मुझे अपने दोस्त पीएम शिंजो आबे के साथ मिलकर भारत-जापान की दोस्ती को मजबूत करने का मौका मिला। हमने अपने राजनयिक संबंधों को राजधानियों और राजदूतों के दायरे से परे सीधे जनता के बीच ले गए। स्वामी विवेकानंद, गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर, महात्मा गांधी, नेता जी सुभाष चंद्र बोस, जस्टिस राधाबिनोद पाल, कई भारतीयों ने जापान के साथ भारत के रिश्ते को मजबूत किया। इसीलिए विश्व युद्ध -2 के बाद, भारत और जापान के संबंध और अधिक मजबूत हुए’ |

G20 Summit (शिखर सम्मेलन) सदस्य देश

जी-20 एक संगठन है, जिसके सदस्य देश विश्व का 80 प्रतिशत व्यापार करते है और इन देशों की जनसंख्या विश्व की दो-तिहाई है | यह संगठन विश्व के आधे भाग का प्रतिनिधित्व करता है | इसके सदस्य देश अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, यूरोपियन यूनियन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, साउथ अफ्रीका, साउथ कोरिया, तुर्की, ब्रिटेन और अमेरिका है, इनकी कुल संख्या 20 है |

ये भी पढ़े: G20 summit 2019 : PM नरेद्र मोदी शिरकत करने पहुचे जापान ये मुद्दों होंगे ख़ास – आप भी जाने

Advertisement