क्या आप मानसिक रूप से बहुत मजबूत हैं ? जानिए इन 6 बातों से

0
102

वैसे तो अपने शरीर को लेकर लगभग लोग परेशान रहते हैं, क्योंकि बहुत कम ही लोग ऐसे होते है, जिनका शारीर पूर्ण रूप से स्वस्थ होता है| आज के समय में स्वस्थ रहनें की अपेक्षा अस्वस्थ लोगो की संख्या अधिक है, किसी न किसी को कोई न कोई समस्या बनी ही रहती है,  लेकिन क्या आप मानसिक रूप से बहुत मजबूत हैं ? तो इन 6 बातों से जानिये|

Advertisement

मस्तिष्क का कार्य

मस्तिष्क शरीर का एक आवश्यक अंग होने के साथ-साथ प्रकृति की एक उत्कृष्ट रचना भी है। मानव का मस्तिष्क एक ऐसी धरोहर हैं, जिसके कारण वह इस दुनिया के विभिन्न जीवधारियों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। मनुष्य अपने मस्तिष्क के प्रयोग से ही प्रत्येक  काम को पूरा करता है, और कभी-कभी यही मस्तिष्क असफलता की ऐसी गर्त में पहुंचा देता है, जहां से निकलना असंभव होता है| 

इसे भी पढ़े: मोबाइल से बिगड़ रहा आपके शरीर का ढांचा, इसके ज्यादा इस्तेमाल से गर्दन में विकसित हो रही नुकीली हड्डी

विज्ञान का भी मानना है

किसी भी कार्य को सफलता पूर्वक करनें के लिए एक सही मस्तिष्क की आवश्यकता होती है| मस्तिष्क को सही दिशा में लगाने से बहुत फायदे होते हैं। इसके लिए मानसिक रूप से मजबूत होना बहुत अधिक जरूरी होता है, क्योंकि सफलता आपकी बुद्धि से ज्यादा मानसिक मजबूती पर निर्भर करती है। अगर आप दृढ़ इच्छा शक्ति और मानसिक मजबूती चाहते हैं, तो आपको बहुत ताकतवर बनना होगा।  

ऐसे मुद्दों के बारे में न सोंचे जो आपके वश से बाहर हों

आपने अक्सर बड़े बुजुर्गों को कहते सुना होगा कि, जो चीज़ हमारे कंट्रोल में नहीं होती उसके बारे में चिंता करना चिता समान होता है। इसका या मतलब होता है, कि जब किसी विषय में आप कुछ कर ही नहीं सकते तो उसको समय और परिस्थितियों पर छोड़कर चिंतामुक्त हो जाना चाहिए।

वहीं मशहूर साइकोलॉजिस्ट एमी मॉरिन बताती हैं कि, यदि आप मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति हैं तो आप उन मुद्दों के बारे में चिंता नहीं करेंगे जो आपके कंट्रोल में हैं ही नहीं। ऐसे मुद्दों को कंट्रोल करने की कोशिश में हम सिर्फ चिंता और तनाव से दो चार होते हैं। इसमें सिर्फ मानसिक थकान ही नहीं है, ऐसा करने से ऊर्जा का स्तर भी कम होने लगता है।”

बिना पछतावे के “ना” कहने की हिम्मत

अगर आप हर बात में हां करते रहते हैं, तो यह आपके लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है। अपनी जिम्मेदारी पूरी करना अच्छी बात है, लेकिन ना कहने की हिम्मत नहीं जुटा पाना आपको सम्मान से दूर रखता है। यदि आप जीवन में बैलेंस चाहते हैं तो “ना”  कहने की आदत दाल लें ।  

सफलता चुटकियों में नहीं मिलती

रिसर्च बताती हैं कि, मानसिक रूप से मजबूत लोग किसी भी परिस्थिति को जांचने परखने के बाद ही उस पर प्रतिक्रिया देते हैं। यही व्यवहार उन्हें दूसरों के आगे धैर्यवान बनाता है। ऐसे लोगों को अच्छी तरह से पता होता है, कि धैर्य से किए जाने वाले सभी कार्य सफल होते हैं इसीलिए वह सफलता मिलने तक इंतजार करते हैं। ये लोग जानते हैं कि अपने लक्ष्य तक पहुंचने का कोई शॉर्टकट नहीं होता क्योंकि किसी भी फल को पकने में समय लगता है।”

आपनी सीमाएं निर्धारित करे

अपने जीवन में आगे बढ़ने के लिए  सीमाएं तय करना बहुत जरूरी है। इससे आप मजबूती और संतोष का अनुभव कर सकेंगे | रिसर्च बताती हैं कि, आप अपने मस्तिष्क और शरीर को कंट्रोल करने में सक्षम हैं इसीलिए आपको किसी का गुलाम बनने की जरूरत नहीं। मानसिक मजबूती आपको एक दृढ़निश्चयी और परिपक्व इंसान बनाता है।”

इसे भी पढ़े: Best Time Of Workout: अगर किया आपने इस टाइम वर्कआउट तो फिट रहने से कोई रोक नहीं सकेगा

Advertisement