मोबाइल से बिगड़ रहा आपके शरीर का ढांचा, इसके ज्यादा इस्तेमाल से गर्दन में विकसित हो रही नुकीली हड्डी

0
192

वर्तमान समय में अधिकांश लोग अपना सबसे अधिक समय फ़ोन के साथ व्यतीत करते है, लेकिन उनका ज्यादा फ़ोन चलाना काफी खतरनाक साबित हो सकता है| जानकारी देते हुए बता दें, कि मोबाइल फोन और टेबलेट्स शरीर का ढांचा बिगाड़ रहा हैं। इस पर ऑस्ट्रेलिया के सनशाइन कोस्ट विश्वविद्यालय में रिसर्च की गई है, जिसमें यह बात सामने आई है।

Advertisement

इसे भी पढ़े:  गर्मियों में फ्रेश और खूबसूरत दिखने के लिए अपनाये ये स्किन केयर टिप्स

शोधकर्ताओं के मुताबिक, ऐसे गैजेट्स पर अधिक समय बिताने पर सिर के पिछले हिस्से में एक अतिरिक्त नुकीली हड्डी पायी गई है। इस हड्डी को ‘टेक्स्ट नेक’ का नाम दिया गया है। वहीं पाई गई इस हड्डी का आकार 2.6 सेमी. तक है। इसके अतिरिक्त इस तरह का रिसर्च करने के लिए मोबाइल-टेबलेट का अधिक इस्तेमाल करने वाले एक हजार से भी ज्यादा  लोगों के सिर को स्कैन करने पर इसकी पुष्टि भी की गई है|

18-86 वर्ष की आयु के लोगों पर की गई  रिसर्च

शोधकर्ताओं इस हड्डी के बारे में मालूम करने के लिए 18-86 साल की उम्र के लोगों पर रिसर्च की है। जिसमें शोधकर्ताओं ने पाया है कि, ‘टेक्स्ट नेक’ के मामले 18-30 साल की उम्र में अधिक देखने को मिलते हैं। इसका कारण गैजेट का अधिक इस्तेमाल करना है। कम उम्र के बच्चों और युवाओं में बिगड़ा पॉश्चर, असामान्य रूप से पीठ का घुमावदार होना और गर्दन दर्द जैसी शिकायतें भी सामने आ रही हैं।

गर्दन की मांसपेशियों को सपोर्ट देती है टेक्स्ट नेक

शोधकर्ता डॉ. डेविड सहर ने जानकारी देते हुए बताया है कि, गर्दन में नुकीली हड्डी विकसित होने के मामले पिछले एक दशक में देखे गए हैं। इससे पहले ऐसा नहीं था। गर्दन से पीठ की ओर आने वाली मांसपेशियों का अधिक इस्तेमाल किया जाता है। सिर का वजन करीब 5 किलो तक होता है, इसका भार भी इन मांसपेशियों पर पड़ता है। इस भार को कम करने के लिए गर्दन के पिछले हिस्से में एक नई हड्डी विकसित हो रही है।

बच्चों की रीढ़ का आकार में परिवर्तन

शोधकर्ता डॉक्टर जेम्स कार्टर का कहना है कि, बच्चों की रीढ़ का आकर बदल रहा है। यही नहीं मोबाइल फोन का अधिक इस्तेमाल करने के कारण उन्हें सिरदर्द, बैकपेन, गर्दन के साथ कंधों में दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। गैजेट को लंबे समय तक इस्तेमाल करने वाले कई मरीज मेरे पास आते हैं और सिरदर्द की शिकायत करते हैं, जबकि उनमें इसका कारण टेक्स्ट नेक है।

इसे भी पढ़े: Yoga in Summer: ये योगासन आपको दिलाएंगे गर्मी से राहत – जानिये कैसे करे

Advertisement