Lok Sabha Election 2019: पहले चरण की 91 सीटों के लिए 1279 उम्मीदवारों की किस्मत EVM में हुई कैद

लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्‍न हो गया| 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों पर कुल 1279 उम्मीदवारों की किस्‍मत ईवीएम में कैद हो गई| शाम पांच बजे तक के आंकड़ों के अनुसार सबसे कम बिहार में 50 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 81 प्रतिशत मतदान हुआ। उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने संवाददाता सम्मेलन में बताया, कि पहले चरण के चुनाव में मतदान का स्तर सामान्य रहा।

ये भी पढ़े: लोकसभा चुनाव का पहला चरण समाप्‍त, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में 81 पर्सेंट वोटिंग, बिहार में सबसे कम पड़े वोट

चुनाव आयोग के अनुसार लोकसभा चुनाव के पहले चरण में सिक्किम में 69%, मिजोरम में 60%, नगालैंड में 78%, मणिपुर  78.2%, त्रिपुरा में 81.8%, असम में 68%, पश्चिम बंगाल में 81%, फीसदी मतदान हुआ| पहले चरण के मतदान के दौरान कई स्थानों पर ईवीएम खराब होने की सूचनाएं प्राप्त हुई | सभी 91 सीटों पर मतदान के दौरान तकनीकी समस्या के कारण 1.7 प्रतिशत ईवीएम मशीनों को बदलना पड़ा, जबकि 1.04 प्रतिशत कंट्रोल यूनिट और 1.61 प्रतिशत वीवीपेट मशीनें बदली गयीं।

पहले चरण के मतदान में जिन प्रमुख नेताओं की किस्मत ईवीएम में कैद हुई है, उनमें केंद्रीय मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह, नितिन गडकरी, हंसराज अहीर, किरण रिजीजू, कांग्रेस की रेणुका चौधरी, एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी शामिल हैं| इस चरण में रालोद के अजीत सिंह का मुकाबला उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर सीट पर BJP के संजीव बालियान से है, जबकि उनके बेटे जयंत चौधरी बागपत सीट पर केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह को चुनौती दे रहे हैं| लोजपा प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के सांसद पुत्र चिराग पासवान बिहार में जमुई सीट से उम्मीदवार हैं|

ये भी पढ़े: क्या क्या नही कर रहे वोटर्स को लुभाने के लिए नेता जी – आप भी देखिये मंत्री जी का “नागिन डांस”