मायावती की ऐसी 6 बातें जिसे सुनकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे – जानिए मायावती ने क्या कहा

0
197

लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी और बीएसपी के गठबंधन को देखकर ऐसा लग रहा था, कि अब यह दोनों पार्टियां मिलकर लंबे समय तक राजनीति करेंगी, परन्तु लोकसभा चुनाव के दौरान गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा, और इस हार के बाद गठबंधन भी लगभग समाप्त हो चुका है|  सपा-बसपा का गठबंधन सफल नहीं होने के बाद मायावती ने हाल ही में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से दूरी बना ली थी, इसके बाद उन्होंने गठबंधन भी तोड़ने का ऐलान कर दिया था|

Advertisement

ये भी पढ़े: BSP अब सपा (SP) से तोड़ेगी गठबंधन, लड़ेगी अपने बूते सभी चुनाव मायावती ने किया ऐलान

अब बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला है| इसके साथ ही उन्होंने ने उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव में भी अकेले लड़ने की घोषणा कर दी है| बता दें, रविवार को हुई बीएसपी की एक अहम बैठक हुई| बसपा की राष्ट्रीय स्तर की मीटिंग में मायावती ने कहा, कि गठबंधन के चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने मुझे फोन नहीं किया| इसी प्रकार उन्होंने ऐसी 6 बातें कही, आईये जानते है वह कौन-कौन से बाते है? जिनको सुनने के बाद अखिलेश क्या सोंच रहे होंगे ?

जानिए मायावती ने क्या कहा?

1.गठबंधन के चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने मुझे फोन नहीं किया| सतीश मिश्रा ने उनसे कहा कि वे मुझे फोन कर लें, लेकिन फिर भी उन्होंने फोन नहीं किया| मैंने बड़े होने का फर्ज निभाया और काउंटिग के दिन 23 तारीख को उन्हें फोन कर उनके परिवार के हारने पर अफसोस जताया|

2.तीन जून को जब मैंने दिल्ली की मीटिंग में गठबंधन तोड़ने की बात कही तब अखिलेश ने सतीश चंद्र मिश्रा को फोन किया, लेकिन तब भी मुझसे बात नहीं की|

3.अखिलेश ने मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया, कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं, क्योंकि उससे और ध्रुवीकरण होगा, लेकिन मैंने उनकी बात नहीं मानी

4.मुझे ताज कॉरिडोर केस में फंसाने में बीजेपी के साथ मुलायम सिंह यादव का भी अहम रोल था, अखिलेश की सरकार में गैर यादव और पिछड़ों के साथ नाइंसाफी हुई, इसलिए उन्होंने वोट नहीं किया

5.समाजवादी पार्टी ने प्रमोशन में आरक्षण का विरोध किया था इसलिए दलितों, पिछड़ों ने उसे वोट नहीं दिया

6.बीएसपी के प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा को सलीमपुर सीट पर समाजवादी पार्टी के विधायक दल के नेता राम गोविंद चौधरी ने हराया, उन्होंने सपा का वोट बीजेपी को ट्रांसफर करवाया, लेकिन अखिलेश ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की   

इसे भी पढ़े: TDP के राज्यसभा सदस्य बीजेपी में शामिल होने पर मायावती ने कही बड़ी बात – यहाँ जाने

Advertisement