एनआईआरएफ रैंकिंग 2019 : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज करेंगे जारी, किन यूनिवर्सिटीज को मिल सकती है जगह

एनआईआरएफ रैकिंग (NIRF India Ranking 2019): बता दें कि आज 8 अप्रैल को द नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF)  रैंकिंग जारी करेगा | सूत्रों की मुताबिक़, राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद स्वयं ही द नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) की रैंकिंग आज जारी करेंगे | नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) इंडिया रैंकिंग शिक्षण, लर्निंग और संसाधनों, अनुसंधान और प्रोफेशनल माहौल, आउटरीच और समावेशी, स्नातक परिणामों और धारणा के आधार पर जारी होता है|

इसे भी पढ़े:NAAC टीम 26 से 28 मार्च तक इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का करेगी इंस्‍पेक्‍शन

द नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) द्वारा रैंकिंग 9 कैटेगरी में जारी किया जाता है | ओवरऑल, यूनिवर्सिटीज, कॉलेज, मैनेजमेंट, फॉर्मेंसी, मेडिकलस अर्किटेक्चर, इंजीनियरिंग और वकालत में जारी होता है. द नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) रैंकिंग जारी करने से पहले  कमेटियों द्वारा शैक्षिक संस्थानों का सर्वे भी होता है |

द नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क द्वारा जारी 2018 के टॉप शैक्षिक संस्थान

रैंक 1- इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बैंगलूरू

रैंक 2- जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली

रैंक 3- बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी

रैंक 4- अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई

रैंक 5- यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद, हैदराबाद तेलंगाना

रैंक 6- जाधवपुर यूनिवर्सिटी, कोलकाता

रैंक 7- यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली, दिल्ली

रैंक 8- अमृता विश्वा विद्यापीठ, कोयम्बटूर

रैंक 9- सावित्री बाई फूले यूनिवर्सिटी, पुणे

रैंक 10 – अलीगढ़ मुश्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़

बता दें कि एनआईआरएफ सारे देश के संस्थानों को रैंक करने के लिए एक कार्यप्रणाली की रूपरेखा को बनाने का काम करती है | इसको विभिन्न विश्वविद्यालयों और संस्थानों की रैंकिंग के लिए व्यापक मापदंडों की पहचान करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा गठित एक कोर समिति द्वारा आई व्यापक सिफारिशों को समझने के लिए जारी किया गया है |

इसे भी पढ़े: ICC टेस्ट रैकिंग में भारत की क्या है रैकिंग – यहाँ देखे