जम्मू कश्मीर पर भारत के फैसले से बौखलाया पाकिस्तान, भारतीय उच्चायुक्त को वापस भेजने का लिया निर्णय

मोदी सरकार द्वारा कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद पड़ोसी देश पाकिस्तान में हलचल मची हुई है। पाकिस्तान ने अपने इन परेशानियों को सही करने के लिए बुधवार 7 अगस्त को प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में नेशनल सेक्योरिटी कमेटी की उच्चस्तरीय बैठक आयोजित की| इसके बाद आयोजित की गई बैठक में भारत के राजनयिक दर्जे को कम करने का फैसला लिया है| 

इसे भी पढ़े: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में पेश किया जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल, बहस जारी

इसके साथ ही इस्लामाबाद से भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को वापस भेजने के लिए कहा गया है| बता दें कि, पाकिस्तान ने 5 सितंबर तक भारत आने-जाने वाली उड़ानों के लिए अपना हवाई रूट भी बंद कर दिया है। अब ये हवाई रूट सुबह 2:45 से सुबह 11 बजे तक बंद रहेंगे। मीडिया के मुताबिक, पाकिस्तान द्वारा एयर कॉरिडोर बंद किए जाने से भारत की अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को 12 मिनट का अतिरिक्त समय लगेगा। इस रूट से एयर इंडिया रोजाना 50 उड़ानें भरी जाती हैं|

बैठक के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा, ‘हम अपने उच्चायुक्त को नई दिल्ली में नहीं रखेंगे और ना ही भारत के उच्चायुक्त हमारे देश में रहेंगे।’ अब पाकिस्तान के इस फैसले के बाद दोनों देशों को एक दूसरे के यहां स्थित उच्चायोग से अपने कर्मचारियों की संख्या भी कम करनी पड़ेगी| इससे वीजा देने से लेकर दूतावास के अन्य सभी सामान्य कार्यो पर प्रभाव पड़ेगा| इसके अलावा  दोनों देशों के बीच करतारपुर कॉरीडोर शुरू करने के लिए भी जो बातचीत चल रही हैं इसका असर उस पर भी पड़ सकता है|

इसे भी पढ़े: धारा 370 को हटाने को लेकर अमेरिका का आया बयान, कहा – ‘अमेरिका को कोई सूचना नहीं दी’