प्रतापगढ़ लोकसभा सीट पर कितने है वोटर्स, क्या रहे है अब तक के परिणाम

Pratapgadh Lok Sabha Election – 2019

प्रतापगढ़ लोकसभा सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती थी, लेकिन पिछले कुछ समय में इस पर अन्य दलों का कब्ज़ा रहा है| वर्ष 2011 की जनगणना के आधार पर प्रतापगढ़ लोकसभा सीट लगभग 23 लाख जनसंख्या थी| यहाँ पर ग्रामीण जनसंख्या 94.18 प्रतिशत है बल्कि शहरी जनसंख्या 5.82 प्रतिशत है| यहाँ पर कुल मतदाता 1682147 है| यह संख्या लोकसभा चुनाव 2019 में अधिक होगी| जिसमे नए मतदाता अधिक संख्या में होंगे|

अनुसूचित जाति – 19.9  प्रतिशत

अनुसूचित जनजाति – 0.03 प्रतिशत

मुस्लिम आबादी- 14 प्रतिशत

राजपूत, कुर्मी और ब्राह्मण मतदाता काफी निर्णायक भूमिका निभाते है |

नोट: प्रतापगढ़ लोकसभा चुनाव छठे चरण के अंतर्गत 12 मई को आयोजित किये जायेंगे|

ये भी पढ़ें: प्रतापगढ़ लोकसभा चुनाव क्यों हो गया है दिलचस्प, किस पार्टी की दिख रही है यहाँ मजबूत पकड़

क्या रहे है अब तक के परिणाम ?

प्रतापगढ़ लोकसभा सीट का गठन 1957 में हुआ था, इसका बड़ा हिस्सा फूलपुर लोकसभा सीट के तहत आता था|

1957 में कांग्रेस के मुनीश्वर दत्त उपाध्याय ने जीत दर्ज की थी

1962 में जनसंघ से अजीत प्रताप सिंह ने जीत हासिल की थी

1967 में कांग्रेस के नेता दिनेश सिंह यहां के सांसद बने, यह लगातार दो बार इस सीट पर जीतकर विदेश मंत्री बने थे  

1977 में लोकदल से रूपनाथ सिंह यादव ने जीत दर्ज की

1980 में कांग्रेस के अजीत सिंह ने जीत दर्ज की  

1984 में कांग्रेस से दिनेश सिंह जीत दर्ज की, यह लगातार दो बार सांसद रहे

1991 में जनता दल से राजा अभय प्रताप सिंह सांसद बने

1996 में कांग्रेस के टिकट पर दिनेश सिंह की बेटी राजकुमारी रत्ना सिंह प्रतापगढ़ की पहली महिला सांसद बनी

1998 में पहली बार बीजेपी के राम विलास वेदांती ने जीत दर्ज की  

2004 में समाजवादी पार्टी के अक्षय प्रताप सिंह ने यहां की सीट पर जीत दर्ज की

2009 में कांग्रेस की रत्ना सिहं जीतने में कामयाब रही

2014 में बीजेपी और अपना दल ने गठबंधन कर लिया इस सीट पर अपना दल के कुंवर हरिबंश सिंह सांसद चुने गए

ये भी पढ़ें: बागपत लोकसभा सीट में क्या है जातीय समीकरण

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: BSP द्वारा UP की इन पांच सीटों पर सीटों पर कौन लड़ेगा चुनाव आप भी देखें