पाक विदेश मंत्री ने कुरैशी ने एस जयशंकर के संबोधन का किया बहिष्कार, कश्मीर मुद्दे पर दिया यह बयान

गुरुवार 26 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठकों से इतर सार्क देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री भी शामिल हुए| आयोजित की गई बैठक में  जब विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बोलना शुरू किया, तो पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी कमरे से बाहर निकल आये|  फिर जब जयशंकर ने भी अपनी बात पूरी कर ली तो वो भी पाकिस्तानी विदेश मंत्री के लौटने से पहले निकल आए| बाद में महमूद क़ुरैशी ने भारतीय विदेश मंत्री के संबोधन का बहिष्कार किया| 

इसे भी पढ़े: सेना प्रमुख बिपिन रावत ने किया बड़ा खुलासा, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी लॉन्च पै़ड फिर से किया सक्रिय

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने भाषण देते हुए कहा कि,”सार्क सम्मेलन इस्लामाबाद में होना तय है, भारत की वजह से 2016 से रोकना पड़ा| किसी देश ने विरोध नहीं किया| इसी के साथ  कहा कि, ‘हम पीएम मोदी को सार्क में बुला रहे हैं, जो सार्क का हिस्सा हैं वे सब आएं|’

उन्होंने कहा कि, “पाकिस्तान भारत के साथ तब तक कोई बातचीत शुरू नहीं करेगा ‘जब तक वे कश्मीर में पाबंदी समाप्त नहीं करता|’ कुरैशी जयशंकर के संबोधन का समापन हो जाने के बाद वहां पहुंचे थे| इसके बाद देर से आने के बारे में पूछे जाने पर, कुरैशी ने कहा कि, वह कश्मीर पर विरोध स्वरूप भारतीय मंत्री के साथ नहीं बैठना चाहते हैं| जयशंकर से जब उनके संबोधन के दौरान उनके पाकिस्तानी समकक्ष की अनुपस्थिति पर टिप्पणी करने के लिए कहा गया तो उन्होंने कहा ‘नहीं’|

इसे भी पढ़े: कश्मीर मुद्दे पर UN प्रमुख का बयान, कहा -‘कश्मीर मुद्दा सुलझाने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता सबसे जरूरी’