राहुल गांधी मानहानि मामले में सूरत कोर्ट में हुए पेश, इस महीनें तक टली सुनवाई

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी आपराधिक मानहानि केस के एक मामले में आज गुजरात की एक अदालत में पेश हुए| लोकसभा चुनाव के दौरान रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने मोदी उपनाम को लेकर सवालिया लहजे में पीएम मोदी पर हमला बोला था| राहुल गाँधी ने कहा था, कि सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों होता है? जिसके बाद उनके खिलाफ आपराधिक मानहानि का मामला दायर किया गया था| हालाँकि मामले की सुनवाई 10 दिसंबर तक टल गई।

ये भी पढ़े: सलमान खुर्शीद ने कांग्रेस के मौजूदा हाल पर दिया बयान, कहा- ‘कांग्रेस अपना भविष्य तक नहीं कर सकती तय’

राहुल गांधी के सूरत पहुचनें को लेकर कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा, ‘उन्हें तलब किया गया था, इसलिए वह यहां आए हैं। कानून को अपना काम करने दें। हम देखेंगे कि अदालत कब फैसला लेगी, जज जो कहेंगे वही किया जाएगा। वहीं इसे लेकर शक्ति सिंह गोहिल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा, उन्होंने कहा, ‘  लोकतंत्र में, सत्ताधारी पार्टी को विपक्ष की आलोचना को सहन करना चाहिए। राहुल जी ने कहा था, कि ललित मोदी और नीरव मोदी चोर हैं, और नरेंद्र मोदी एक विफल नेता है। भाजपा ने मोदी समुदाय से इस बयान को जोड़ा और उनका अपमान किया।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बी एच कपाड़िया ने मई में राहुल गांधी के खिलाफ समन जारी किया था| कोर्ट ने बीजेपी विधायक पुरनेश मोदी की भारतीय दंड संहिता की धारा 499 और 500 के तहत शिकायत को स्वीकार कर लिया था| यह धारा आपराधिक मानहानि के मामले से संबंधित है|

ये भी पढ़े: शेहला रशीद ने चुनावी राजनीति छोड़ने का किया ऐलान, कहा – ‘कश्मीर के मुद्दों को उठाती रहूंगी’