भारत से 1000 लोगों की छंटनी करने की तैयारी में सैमसंग, चीनी कंपनियों से मिल रही जबर्दस्त चुनौती

0
54

अब भारत में चीनी मोबाइल हैंडसेट कंपनियों से जबर्दस्त चुनौती मिल रही हैं| वहीं अब दी जाने वाली इन चुनौतियों का असर दूसरी कंपनियों पर भी नजर आने लगा है, क्योंकि अब कोरिया की दिग्गज कंपनी सैमसंग ने भारत में अपने कर्मचारियों की संख्या में 1000 तक लोगो की छंटनी करनी की तैयारी में है| सैमसंग को अपने मार्जिन और मुनाफे को सुरक्षित रखने के लिए पहले ही स्मार्टफोन और टेलीविजन के दाम में मजबूरन कटौती पड़ गई है|

Advertisement

इसे भी पढ़े: GST की बैठक में लिया गया फैसला, Aadhaar के जरिए भी कर सकेंगे कंपनियों का रजिस्ट्रेशन

मीडिया से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, तीन वरिष्ठ अधिकारियों ने यह जानकारी दी है कि, देश की सबसे बड़ी कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और मोबाइल फोन मेकर कंपनी सैमसंग को अपनी लागत को तर्कसंगत बनाने की योजना के तहत यह सब करना पड़ रहा है इसी के साथ उन्होंने बताया कि, सैमसंग अब तक अपने टेलीकॉम डिवीजन से 150 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल चुकी है और अक्टूबर तक यह प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी| 

सैमसंग इंडिया के प्रवक्ता ने कहा है कि, कंपनी भारतीय कारोबार के लिए प्रतिबद्ध है और सभी कारोबार में अच्छा निवेश करेगी| दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फोन फैक्ट्री यहां स्थापित की जा रही है और 5जी नेटवर्क जैसे नए कारोबार में निवेश किया जा रहा है| इसी के साथ  कहा कि जैसे-जैसे कंपनी आगे बढ़ेगी इसका प्रयास ज्यादा रोजगार सृजन का होगा|

एक अनुमान के अनुसार भारत में सैमसंग की ईकाइयों में लगभग  20 हजार कर्मचारी काम  कर रहें  हैं | वहीं रिपोर्ट से मिली जानकारी के मुताबिक, सभी सैमसंग के सभी बिजनेस हेड ने इंडियन ऑपरेशंस के प्रेसिडेंट को खराब प्रदर्शन करने वालों की सूची सौंप दी है| कई कारोबार के मामले में तो कुल टीम स्ट्रेंथ का 10 फीसदी हिस्सा छंटनी के तहत आ रहा है| कर्मचारियों की छंटनी में सेल्स, मार्केटिंग, आरऐंडडी, मैन्युफैक्चरिंग, फाइनेंस, एचआर, कॉरपोरेट रिलेशंस जैसे विभाग शामिल किये जाएंगे |  

इसे भी पढ़े: दुनिया की 2000 बड़ी कंपनियों में शुमार है 57 भारतीय कंपनी, 71वे नंबर पर काबिज़ है रिलायंस

Advertisement